--Advertisement--

एमएस रंधावा की याद में 2 फरवरी से होगा आर्ट एंड लिट फेस्टिवल

डॉ. एमएस रंधावा की याद में कला और संस्कृति से उत्सव पहले भी हुए हैं, तो इस बार क्या नया है? जवाब में बताया गया-हमने...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:10 AM IST
डॉ. एमएस रंधावा की याद में कला और संस्कृति से उत्सव पहले भी हुए हैं, तो इस बार क्या नया है? जवाब में बताया गया-हमने सोचा इस बार कला और गीत संगीत के अलावा वह सब शामिल किया जाए जिससे रंधावा का जुड़ाव था। जैसे कला, साहित्य, किसान, सभ्याचार आदि, ताकि इन क्षेत्रों में भी दिए गए उनके योगदान के बारे में सब को बताया जा सके। यही वजह थी जिसे लेकर पंजाब कला परिषद डॉ. एमएस रंधावा कला और साहित्य उत्सव-2018 आयोजित कर रही है। 8 फरवरी तक यह उत्सव सेक्टर-16 पंजाब कला भवन में चलेगा।

परिषद के चेयरमैन डॉ. सुरजीत पातर ने बुधवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसके बारे में जानकारी दी। पातर ने बताया इसमें साहित्य, किसान और सभ्याचार पर आधारित सेमिनार होगा। इसमें साहित्य, संस्कृति के अलावा खेत, किसान और पंजाब की स्थिति पर चर्चा की जाएगी। लोक गायन, नृत्य और कवि दरबार भी होगा। कॉलेज के स्टूडेंट्स के लिए क्विज भी आयोजित किया जाएगा। यह सब कार्यक्रम सुबह 11 बजे से शुरू हो जाएंगे और शाम तक चलेंगे।

ArtLit Fest

सेक्टर-16 के पंजाब कला भवन में 2 फरवरी से डॉ. एमएस रंधावा कला और साहित्य उत्सव 2018 होने जा रहा है। जो 8 फरवरी तक चलेगा।


ऐसा रहेगा शेड्यूल

2 फरवरी शाम 5:30 बजे उद्घाटन पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू करेंगे। यहीं पंजाब गौरव सम्मान भी दिए जाएंगे।

3 फरवरी
4 फरवरी
5 फरवरी
6 फरवरी
7 फरवरी
8 फरवरी
इन्हें मिलेगा पंजाब गौरव सम्मान

उत्सव के पहले दिन तीन पंजाब गौरव सम्मान दिए जाएंगे, जो कला, साहित्य और रंगमंच के क्षेत्र में योगदान देने वाली तीन शख्सियतों को दिया जाएगा। कला के क्षेत्र में डॉ. बीएन गोस्वामी, साहित्य के क्षेत्र में डॉ. वरियाम सिंह संधु और रंगमंच के क्षेत्र में जतिंदर कौर को यह सम्मान मिलेगा।

फोटो के जरिए बताएंगे सफर

उत्सव को खास बनाने के लिए डॉ.एमएस रंधावा के जीवन पर आधारित एक फोटो एग्जिबीशन भी लगाई जाएगी, जो 8 फरवरी तक चलेगी। इस एग्जिबीशन में रंधावा के बचपन से लेकर, उनके काम करने, उनकी सोच और जीवन का सफर देखने को मिलेगा। 100 के फोटो को डिस्प्ले किया जाएगा।