• Home
  • Union Territory News
  • Chandigarh News
  • News
  • रजनी की साड़ी व हत्या में यूज रस्सी मिली नाले से, मर्डर के अगले दिन भी मनमोहन मिला था मोनिका से
--Advertisement--

रजनी की साड़ी व हत्या में यूज रस्सी मिली नाले से, मर्डर के अगले दिन भी मनमोहन मिला था मोनिका से

रजनी मर्डर केस में बुधवार को पुलिस ने चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया से बहते नाले से रजनी की साड़ी और मर्डर में...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:10 AM IST
रजनी मर्डर केस में बुधवार को पुलिस ने चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया से बहते नाले से रजनी की साड़ी और मर्डर में इस्तेमाल रस्सी को बरामद कर लिया है। वहीं मनीमाजरा में लगी तिब्बती मार्केट से पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिली है, जिसमें दिख रहा है कि मर्डर के अगले दिन यानी 17 जनवरी को मनमोहन सुबह मोनिका से मिला था। वो उसकी गाड़ी में करीब 6 मिनट तक बैठा रहा और उसके बाद सीधा पुलिस चौकी में पहुंचा था। दरअसल 16 जनवरी के दिन रजनी को मोनिका ने बुलाया था। इस दौरान रजनी एक साड़ी भी साथ लेकर गई थी, जिसका ब्लाउज लेना था। इसके बाद से ही रजनी गायब है।

मोनिका ने पुलिस को बताया था कि रजनी का मर्डर करने के बाद साड़ी में रस्सी, उसका मोबाइल चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया के नाले में पुल के साथ ही गिराया है। इसी को निकालने के लिए बुधवार को क्राइम ब्रांच एसीपी आदर्शदीप की टीम यहां पहुंची। बरामद सामान अासपास के मजदूर व लोगों की मदद से कई घंटों की मशक्कत के बाद तलाश किया गया। क्राइम ब्रांच की टीम सुबह करीब 9 बजे से ही यहां लगी रही और करीब 2 बजे सर्च कंप्लीट हुई। वहीं रजनी मर्डर केस का मास्टरमाइंड उसका पति एडवोकेट मनमोहन पुलिस को रिमांड पर भी गुमराह करने में लगा हुआ है। उसने अभी तक रजनी की बॉडी के बारे में नहीं बताया है। दो दिन पहले वो पुलिस की टीम को मोरनी भी ले गया।



अमित शर्मा | पंचकूला

रजनी मर्डर केस में बुधवार को पुलिस ने चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया से बहते नाले से रजनी की साड़ी और मर्डर में इस्तेमाल रस्सी को बरामद कर लिया है। वहीं मनीमाजरा में लगी तिब्बती मार्केट से पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिली है, जिसमें दिख रहा है कि मर्डर के अगले दिन यानी 17 जनवरी को मनमोहन सुबह मोनिका से मिला था। वो उसकी गाड़ी में करीब 6 मिनट तक बैठा रहा और उसके बाद सीधा पुलिस चौकी में पहुंचा था। दरअसल 16 जनवरी के दिन रजनी को मोनिका ने बुलाया था। इस दौरान रजनी एक साड़ी भी साथ लेकर गई थी, जिसका ब्लाउज लेना था। इसके बाद से ही रजनी गायब है।

मोनिका ने पुलिस को बताया था कि रजनी का मर्डर करने के बाद साड़ी में रस्सी, उसका मोबाइल चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया के नाले में पुल के साथ ही गिराया है। इसी को निकालने के लिए बुधवार को क्राइम ब्रांच एसीपी आदर्शदीप की टीम यहां पहुंची। बरामद सामान अासपास के मजदूर व लोगों की मदद से कई घंटों की मशक्कत के बाद तलाश किया गया। क्राइम ब्रांच की टीम सुबह करीब 9 बजे से ही यहां लगी रही और करीब 2 बजे सर्च कंप्लीट हुई। वहीं रजनी मर्डर केस का मास्टरमाइंड उसका पति एडवोकेट मनमोहन पुलिस को रिमांड पर भी गुमराह करने में लगा हुआ है। उसने अभी तक रजनी की बॉडी के बारे में नहीं बताया है। दो दिन पहले वो पुलिस की टीम को मोरनी भी ले गया।



सूत्रों के अनुसार मनमोहन ने मोनिका को मर्डर के बाद गाड़ी को धुलवाने के लिए कहा था। वैसे तो मोनिका ने उसे बॉडी कहां गिराई है इस बारे में बता दिया था, लेकिन उसके बाद भी वो गूगल मैप के जरिये डंपिंग ग्राउंड पहुंचा था। ये सब कुछ 17 जनवरी की डेट में उसके गूगल मैप की हिस्ट्री से पता चला है। यहां पहुंचने के लिए मोनिका को कई बार वॉट्सएप कॉल और ईमो एप से भी कॉल की। तब जाकर वह यहां पहुंचा था।