--Advertisement--

कॉलेजों में स्वच्छ भारत अभियान का कोर्स होगा कम्पलसरी

चंडीगढ़|पीयू और इससे एफिलिएटेड कॉलेजों में अगले अकादमिक सेशन से स्वच्छ भारत अभियान का कोर्स कम्पलसरी होगा। किसी...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
चंडीगढ़|पीयू और इससे एफिलिएटेड कॉलेजों में अगले अकादमिक सेशन से स्वच्छ भारत अभियान का कोर्स कम्पलसरी होगा। किसी भी दूसरे इलेक्टिव सब्जेक्ट की तरह इसकी समर ट्रेनिंग पर दो क्रेडिट मिलेंगे। यूजीसी ने यह निर्देश सभी यूनिवर्सिटियों को जारी किए हैं जिस पर पीयू 1 अप्रैल से काम शुरू करेगी। सभी डीन को यह सर्कुलर भेजा जाएगा ताकि वह अपनी-अपनी फैकल्टी में इसके लिए कोर्स कंटेंट समर ट्रेनिंग आदि को शेड्यूल कर सकें। डीन यूनिवर्सिटी इंस्ट्रक्शन (डीयूआई) प्रो. मीनाक्षी मल्होत्रा ने कहा कि कोर्स के लिए सभी फैकल्टी के प्रस्ताव को अकादमिक काउंसिल को भेजा जाएगा जो इसे मंजूरी देगी। कोर्स में स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत के मोटिव के अनुसार ही स्टूडेंट्स को जागरूक किया जाएगा। उनके लिए 15 दिन की समर ट्रेनिंग होगी। इस समय ट्रेनिंग में वह कहीं भी स्लम एरिया या गांव की सफाई में हाथ बंटाएंगे। साथ ही सफाई को मेंटेन करने के लिए भी कंटिन्यू तौर पर उनको काम करना होगा। यूजीसी स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत के लिए पहले ही फंड उपलब्ध करवा रही है। इनका प्रयोग यूनिवर्सिटीज या कॉलेजेस कर सकते हैं। यह कोर्स सभी तरह के कोर्स में जरूरी होगा। आर्ट्स, कॉमर्स साइंस, मैनेजमेंट, लैंग्वेज, इंजीनियरिंग आदि से जुड़े स्टूडेंट्स को इसको पढ़ना होगा। यही वजह है कि सर्कुलर पहले सभी फैकल्टीज के डीन को भेजा जाएगा। पीयू कैंपस में 12 मेन फैकल्टीज हैं इनमें मेडिकल लैंग्वेज आर्ट्स आदि शामिल हैं।