Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» सोशल मीडिया पर दी थी पुलिस को धमकी खुब्बण गैंग के 3 साथियों समेत 4 गिरफ्तार

सोशल मीडिया पर दी थी पुलिस को धमकी खुब्बण गैंग के 3 साथियों समेत 4 गिरफ्तार

जालंधर | जगराओं और अमृतसर पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी जब दोनों जगह से पुलिस ने चार गैंगस्टर को गिरफ्तार किया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:00 AM IST

जालंधर | जगराओं और अमृतसर पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी जब दोनों जगह से पुलिस ने चार गैंगस्टर को गिरफ्तार किया। जगराओं पुलिस द्वारा पकड़े गए तीन आरोपियों में से एक गुरप्रीत गोपी ने विक्की गौंडर व प्रेमा लाहौरिया के एनकाउंटर के बाद फेसबुक पर पुलिस को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। पुलिस के अनुसार गोपी खुब्बण ग्रुप का सोशल मीडिया ऑपरेट करता था। वह लुधियाना के गांव धाम तलवंडी खुर्द का रहने वाला है जबकि दो अन्यों में फिरोजपुर के बस्ती पंजाब सिंह वाला जीरा का कारजपाल सिंह और बडाला का गुरजीत सिंह गोपी हैं। तीनों से 500 ग्राम हेरोइन, 6 पिस्टल और गोली सिक्का बरामद हुआ है। वहीं अमृतसर और तरनतारन में 18 से अधिक मामलों में वांटेड गैंगस्टर गगनदीप पंडित को मजीठा पुलिस ने गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी के पास से मंगलवार शाम को अरेस्ट कर लिया है।

गैंगस्टर गगनदीप पंडित गिरफ्तार

गालिब कलां रोड से हुई गिरफ्तारी| हथियार रखने के शौकीन गगनदीप से कंट्री मेड पिस्टल भी बरामद हुई है, पुलिस पुष्टि नहीं कर रही। गगनदीप गौंडर के साथी अमृतपाल व लवप्रीत का करीबी है। जालंधर में प्रेस कांफ्रेंस कर आईजी अर्पित शुक्ला ने बताया कि गालिब कलां रोड पर तीनों को गिरफ्तार किया गया है।

गालिब कलां रोड से हुई गिरफ्तारी| हथियार रखने के शौकीन गगनदीप से कंट्री मेड पिस्टल भी बरामद हुई है, पुलिस पुष्टि नहीं कर रही। गगनदीप गौंडर के साथी अमृतपाल व लवप्रीत का करीबी है। जालंधर में प्रेस कांफ्रेंस कर आईजी अर्पित शुक्ला ने बताया कि गालिब कलां रोड पर तीनों को गिरफ्तार किया गया है।

रवि को अकाली नेता कर रहा था फंडिंग|संगरूर. भोला ड्रग रैकेट केस में 5 साल से वॉन्टेड गैंगस्टर और बॉक्सर रविचरण सिंह से सीआईए पूछताछ कर रही है। बुधवार को पुलिस ने 75 से अधिक सवाल किए। इसमें वह 11 साल कहां रहा। कौन फाइनांस करता था। सूत्र बता रहे हैं कि संगरूर का अकाली नेता फंडिंग कर रहा था।

रवि को अकाली नेता कर रहा था फंडिंग|संगरूर. भोला ड्रग रैकेट केस में 5 साल से वॉन्टेड गैंगस्टर और बॉक्सर रविचरण सिंह से सीआईए पूछताछ कर रही है। बुधवार को पुलिस ने 75 से अधिक सवाल किए। इसमें वह 11 साल कहां रहा। कौन फाइनांस करता था। सूत्र बता रहे हैं कि संगरूर का अकाली नेता फंडिंग कर रहा था।

गैंगस्टर्स पैरामिलिट्री फोर्स के पहरे में रहेंगे

डीजीपी के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री की मंजूरी के बाद शुरू हुआ काम

भास्कर न्यूज | चंडीगढ़

पंजाब पुलिस जेलों में बंद गैंगस्टर्स को कोई भी रियायत देने के मूड़ में नहीं है। गैंगस्टर्स पर अब पूरी सख्ती बरती जाएगी। उन्हें अलग-अलग जेलों की बजाए जेलें निर्धारित कर वहां कैटेगरी वाइज बैरकें तैयार कर रखा जाएगा। डीजीपी के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री की मंजूरी मिलने के बाद यह काम पटियाला जेल से शुरू कर दिया गया है। यही नहीं पुलिस और जेल कर्मियों को गस्टर्स की सुरक्षा से हटाकर उनकी जगह पैरामिलिट्री के जवान तैनात किए जाएंगे। यह फैसला इसलिए किया गया है, क्योंकि सरकार को पिछले लंबे समय से शिकायतें मिल रही हैं कि जेलों के कर्मचारी ही गैंगस्टर्स को जेलों में मोबाइल फोन, नशील पदार्थ और अन्य सुविधाएं मुहैया करवा रहे हैं।

इन चुनिंदा जेलों में रखे जा सकते हैं गैंगस्टर

सूत्र बताते हैं कि गैंगस्टर को कपूरथला, पटियाला और बठिंडा जेल में रखने की बात चल रही है। जल्द ही इनमें से दो-तीन जेलों को तय कर राज्य की सभी जेलों में बंद गैंगस्टर्स को इन जेलों में भेज दिया जाएगा।

वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से होगी पेशी | गैंगस्टर्स पर सख्ती का इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उन्हें किसी भी हालत में जेल से बाहर नहीं लाया जाएगा। यहां तक कि कोर्ट में पेशी भी जेलों के अंदर से ही वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिये कराई जाएगी।

जेलों में बंद गैंगस्टर्स पर शिकंजा कसने के लिए कुछ जेलों में अलग से बैरकें तैयार की जाएंगी। पायलट प्रोजेक्ट के तहत पटियाला जेल में ऐसी बैरकें तैयार करनी शुरू कर दी गई हैं। इन पर पहरा भी पंजाब पुलिस या जेल विभाग के कर्मचारियों का नहीं रहेगा बल्कि पैरामिलिट्री फोर्स का रहेगा। - सुरेश अरोड़ा, डीजीपी, पंजाब

कैटेगरी से बैरकों में रखे जाएंगे गैंगस्टर|जो जेलें निर्धारित की जाएंगी, वहां उनको कैटेगरी के हिसाब से अलग-अलग बैरकों में रखा जाएगा। ए कैटेगरी में हार्ड कोर गैंगस्टर शामिल होंगे। बी कैटेगरी में वो गैंगस्टर शामिल होंगे, जिन्हें हार्ड कोर गैंगस्टर्स का साथ देने के आरोप हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×