--Advertisement--

साइकिल से ऑफिस आएं और पर्यावरण स्वच्छ बनाएं

News - चंडीगढ़| नगर निगम के 7400 कर्मचारी और अधिकारी इस बुधवार को भी साइकिल से एमसी ऑफिस पहुंचेंगे। इन कर्मचारियों में...

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 03:05 AM IST
साइकिल से ऑफिस आएं और पर्यावरण स्वच्छ बनाएं
चंडीगढ़| नगर निगम के 7400 कर्मचारी और अधिकारी इस बुधवार को भी साइकिल से एमसी ऑफिस पहुंचेंगे। इन कर्मचारियों में कमिश्नर ऑफिस, एमओएच, फायर, रोड विंग, पब्लिक हेल्थ, हॉर्टिकल्चर और इलेक्ट्रिकल स्टाफ के कर्मचारी और अधिकारी शामिल रहेंगे। निगम कमिश्नर जितेंद्र यादव ने बचाव के लिए कर्मचारियों को डायरेक्शन दी है कि वे साइकिल पर हेलमेट पहनकर आएं। लेकिन कंपलसरी नहीं है। सिर्फ बचाव के लिए है। सभी कर्मचारी और अधिकारी बुधवार सुबह 8.40 बजे एमसी ऑफिस पहुंचेंगे। वहां से रैली की शक्ल में स्टेडियम राउंड अबाउट पर जाएंगे। यहां चारों साइड में 15-15 कर्मचारी खड़े होंगे। साइकिल के प्रति लोगों को प्रोत्साहन करेंगे। साइकिल से ऑफिस आइए, पर्यावरण को स्वच्छ बनवाइए। यह संदेश लोगों को दिया जाएगा।

आज फिर साइकिल पर ऑफिस पहुंचेंगे अिधकारी-कर्मचारी, क्रिकेट स्टेडियम राउंड अबाउट पर जाकर लोगों को बताएंगे


कमिश्नर जितेंद्र यादव ने बताया कि बुधवार को सेक्रेटेरिएट या दूसरी जगह मीटिंग होंगी तो भी सभी ऑफिसर साइकिल से जाएंगे। अपनी फाइल भी खुद ही लेकर जाएंगे। पिछले बुधवार सेक्रेटेरिएट में मीटिंग के लिए एमसी से वह और चीफ इंजीनियर मनोज बंसल वहां साइकिल पर गए थे और अपनी फाइल साथ लेकर गए थे। इस बार भी बुधवार को सभी ऑफिसर शहर में किसी भी जगह मीटिंग होगी तो साइकिल से ही जाएंगे।


नगर निगम कमिश्नर जितेंद्र यादव ने कहा कि गुड़गांव की तर्ज पर सीएसआर पर साइकिल चलाने वाली कंपनियों से संपर्क कर रहे हैं। वहां डॉक-लेस साइकिल चल रही हैं। उन्हें पार्किंग के एक स्पेस से शुरू किया जा सकेगा। जहां कर्मचारियों की आवाजाही ज्यादा होगी वहीं पर कंपनी अपने डॉक लेस साइकिल खड़े करवा देगी। गुड़गांव की दो कंपनियों से बात चल रही है। पूना की कंपनी से भी जॉइंट कमिश्नर तेजदीप सिंह सैनी बात कर रहे हैं। जहां से फाइनल होगी वहीं की कंपनी के साथ एमसी एमओयू कर लेगी। उससे एमसी स्पेस और एडवर्टाइजमेंट के पैसे चार्ज करेगी। पहले डॉकिंग स्टेशन पर साइकिल चलाने के लिए 30 घंटा फ्री में साइकिल चलाने की प्रपोजल थी लेकिन डॉक लेस में ऐसा प्रोविजन नहीं होगा। इसमें कंपनी फ्री में साइकिल नहीं देगी। जहां से कर्मचारी साइकिल लेकर जाएगा, वहां का कोड होगा उससे साइकिल का लोक खुल जाएगा, जहां पर साइकिल पार्क करनी होगी, वहां का भी क्यूआरकोड होगा।



X
साइकिल से ऑफिस आएं और पर्यावरण स्वच्छ बनाएं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..