--Advertisement--

प्राॅपर्टी के डाक्यूमेंट्स नहीं तो मार्केट रेट पर ही लगेगी ट्रांसफर फीस

हाउसिंग बोर्ड की रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्राॅपर्टी के पूरे डाक्यूमेंट्स्स यदि खरीददार के पास नहीं है तो उसे...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:05 AM IST
प्राॅपर्टी के डाक्यूमेंट्स नहीं तो मार्केट रेट पर ही लगेगी ट्रांसफर फीस
हाउसिंग बोर्ड की रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्राॅपर्टी के पूरे डाक्यूमेंट्स्स यदि खरीददार के पास नहीं है तो उसे प्राॅपर्टी के मार्केट रेट के हिसाब से ट्रांसफर फीस देनी होगी। हाउसिंग बोर्ड ने इस नई पाॅलिसी पर काम शुरू कर दिया है। बोर्ड के पास दर्जनों ऐसे आवेदन लंबित पड़े थे जिनके पास प्राॅपर्टी के पूरे डाक्यूमेंट नहीं है या फिर प्राॅपर्टी के खरीददार और बेचने वाले के बीच लिंक के दस्तावेज गायब है। डाक्यूमेंट पूरे न होने के कारण ऐसे लोगों को दिक्कतें आ रही थी।

बोर्ड अब ऐसे केस में ईडब्ल्यूएस फ्लैट्स के लिए मार्केट वेल्यू का 5 परसेंट, एलआईजी फ्लैट्स के लिए 10 परसेंट, एमआईजी फ्लैट्स के लिए 15 परसेंट, एचआईजी फ्लैट्स के लिए मार्केट वेल्यू का 20 परसेंट ट्रांसफर फीस ली जाएगी। इसी प्रकार एचआईजी अपर के मकानों के लिए 25 परसेंट और एचआईजी के इंडिपेंडेंट मकानों के लिए 30 परसेंट मार्केट वेल्यू का ट्रांसफर के लिए देना होगा। इसी प्रकार कमर्शियल प्रापर्टी के लिए मार्केट वेल्यू का 50 परसेंट अदा करना होगा। यही नहीं ट्रांसफर से पहले इसके लिए बोर्ड की तरफ से प्राॅपर्टी का पब्लिक नोटिस दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त ट्रांसफर के लिए आवेदन करने वाले को एक बांड भी भर कर देना होगा कि यदि प्रापर्टी की ट्रांसफर में कोई धोखाधड़ी होती है तो बोर्ड न केवल ट्रांसफर को कैंसिल करेगा बल्कि मामला भी दर्ज करेगा। बोर्ड को इस नई पाॅलिसी से करोड़ों की आय होने की उम्मीद है।

X
प्राॅपर्टी के डाक्यूमेंट्स नहीं तो मार्केट रेट पर ही लगेगी ट्रांसफर फीस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..