--Advertisement--

467 सीसीटीवी, एक भी नहीं पकड़ा इन कैमरों से

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 03:10 AM IST

2017 में जहां-जहां स्नैचिंग हुई, उन प्वाइंट्स के आसपास कुल 467 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे। कई में स्नैचरों की तस्वीरें कैद हुईं, लेकिन किसी एक कैमरे से भी न तो उनकी पहचान हो पाई और न ही उनकी बाइक के नंबर नोट हो सके। पुलिस खुद मान रही है कि कोई भी स्नैचर सीसीटीवी कैमरों की मदद से पकड़ा नहीं गया है। न ही उन तस्वीरों के आधार पर किसी को कोर्ट से सजा करवा सके हैं। वजह है- ज्यादातर कैमरे पीटीजेड नहीं हैं, जो जूम करके आरोपी की शक्ल और बाइक का नंबर नोट कर सकें। चंडीगढ़ प्रशासन खुद स्ट्रैटेजिक प्वाइंट्स पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगवा रहा है। जहां भी सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, अधिकतर लोगों ने अपने पैसों से लगा रखे हंै, लेकिन ये बढ़िया क्वालिटी के नहीं हैं।


पुलिस स्नैचिंग के मामलों को हल्के में ले रही है, जबकि असलियत में स्नैचर ही आगे चलकर कत्ल के केस तक अंजाम दे रहे हैं-



चंडीगढ़ 2017 में...


साउथ डिविजन के 5 थानों में ज्यादा स्नैचिंग

थाना वारदातें स्नैचर पकड़े

31 19 01

34 46 26

36 15 05

39 52 17

49 06 00

मलोया 05 07

कुल 143 56


19 17 03

26 12 00

इंडस्ट्रियल एरिया 08 00

मनीमाजरा 08 00

मौलीजागरां 05 01

आईटी पार्क 01 02

कुल 51 06


11 18 12

3 06 00

17 15 02

सारंगपुर 05 00

कुल 39 14