--Advertisement--

परमिशन 10 फीट की, नदी खोद डाली 30 फीट तक, भास्कर टीम को देख माइनर भागे

एरियामें इल्लीगल माइनिंग करने वालों ने ऑक्शन में ली गई लीगल माइनिंग साइट्स को भी नहीं छोड़ा।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 06:45 AM IST

मोहाली. डेराबस्सी एरिया में इल्लीगल माइनिंग करने वालों ने ऑक्शन में ली गई लीगल माइनिंग साइट्स को भी नहीं छोड़ा। लीगल माइनिंग साइट्स की आड़ में यहां धड़ल्ले से इल्लीगल माइनिंग की जा रही है। नियमों के अनुसार माइनिंग के लिए नीलाम की गई साइट पर 10 फीट तक ही खुदाई की जा सकती है, लेकिन डेराबस्सी के मुबारिकपुर-रामगढ़ मार्ग पर स्थित मिंडकली नदी के पुल के पास 25 से 30 फीट तक खुदाई कर मिट्‌टी और गटका निकालकर बेच दिया गया है। भास्कर की टीम वीरवार को जब यहां क्रशर्स के बीच स्थित इस साइट पर पहुंची तो यहां पोकलेन मशीनों से खुदाई का काम धड़ल्ले से हो रहा था।

खुदाई के लिए मुबारिकपुर के साथ-साथ पडवाला की जमीन को भी निशाना बनाया गया था। माइनिंग विभाग के अनुसार मिंडकली नदी के पास का एरिया ऑक्शन के जरिये माइनिंग के लिए दिया गया है, लेकिन यहां गहरी खुदाई पर पाबंदी है।

चारोंतरफ क्रशर्स, बीच में माइनिंग: रामगढ़की ओर जाते मार्ग पर बने मिंडकली नदी के पुल के साथ ही नदी में रास्ता उतरता है। यहां टिपरों के टायरों के निशान देखे जा सकते हैं। आगे बढ़ने पर एक लाइन में तीन क्रशर नजर आते हैं। इन क्रशर्स के बाद माइनिंग का काम चल रहा है। यहां पोकलेन मशीनों से खुदाई कर टिपरों में मिट्‌टी और रेत भरी जा रही थी। एक के बाद एक टिपर भरकर भेजा जा रहा था। मुबारिकपुर के इस एरिया में माइनिंग का जो खेल चल रहा है, वहां माइनिंग के नाम पर इतनी गहरी खुदाई कर दी गई है कि यह पूरा एरिया किसी पहाड़ी वादी की तरह गहरा दिखता है। इसमें चल रहे टिपर मशीनें भी खिलौने की तरह दिख रही थी। गहराई इतनी ज्यादा थी कि आसपास का एरिया काफी ऊंचा दिख रहा था। इसे भी लीगल साइट बताया गया, लेकिन यहां 25 से 30 फीट तक गहरी खुदाई की गई थी।

सुनील हमारा कर्मचारी, पड़वाला में साइट: कमलजीत

सुनीलसे मिले कमलजीत सिंह के फोन पर जब संपर्क किया गया तो कमलजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि तो सुनील कुमार उनका कर्मचारी है और ही उनका काम पड़वाला में है। उन्होंने कहा कि उनकी साइट मुबारिकपुर में है, जहां 2 नवंबर से काम बंद है।

कारिंदा बोला-कांग्रेसी एमएलए के बेटे की साइट है जनाब
रॉयल्टीलेने वाले युवक सुनील कुमार ने कहा कि इस काम का ठेका कमलजीत सिंह ढिल्लों ने लिया है, इसलिए रॉयल्टी ली जाती है। वे इस ठेकेदार के सुपरवाइजर हैं। उसने बताया कि कमलजीत सिंह समराला से कांग्रेसी एमएलए अमरीक सिंह ढिल्लों के बेटे हैं। उसने यह भी कहा कि मुबारिकपुर, पड़वाला, ककराली, संुडरा में उन्होंने ही सभी साइट्स ऑक्शन में ली हैं।

इल्लीगल माइनिंग नहीं करने दी जाएगी। जहां नियमों का पालन नहीं हो रहा, वहां भी चेक करवाया जाएगा। इसके लिए एसडीएम डेराबस्सी को मौका देखने के लिए भेजा जाएगा। -गुरप्रीतकौर सपरा, डीसीमोहाली

नियमों के अनुसार मुबारिकपुर और पड़वाला एरिया में ऑक्शन हुई है। 10 फीट से अधिक खुदाई करना गैरकानूनी है। इसका जुर्माना लगाया जाएगा। पूरे एरिया की रिपोर्ट तैयार कर विभाग को भेजी जाएगी। -चमनलाल,जीएम माइनिंग डिपार्टमेंट, मोहाली