Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Sri Sri Ravi Shankar On Monday In Chandigarh Press Club

बाबाओं की इमेज पर बोले- श्री श्री रविशंकर, राम मंदिर-बाबरी मस्जिद पर कहा ये

रामरहीम का मामला सामने आने का बाद बाबाओं पर लोगों का विश्वास उठ रहा है। उनकी इमेज गिर रही है।

bhaskar news | Last Modified - Nov 07, 2017, 05:20 AM IST

बाबाओं की इमेज पर बोले- श्री श्री रविशंकर, राम मंदिर-बाबरी मस्जिद पर कहा ये
चंडीगढ़।रामरहीम का मामला सामने आने का बाद बाबाओं पर लोगों का विश्वास उठ रहा है। उनकी इमेज गिर रही है। कोई भी बाबा बन जाता है। ऐसे में क्या इनके लिए कोई रेगुलेटरी अथॉरिटी नहीं होनी चाहिए? इस प्रश्न के जवाब में श्री श्री रविशंकर बोले-बाबाओं पर लोगों का विश्वास कम हो रहा है तो इसके लिए रेगुलर चेक रखा जा सकता है। जिसके लिए एक रेगुलटरी बोर्ड बनाया जा सकता है।
श्री श्री रवि शंकर सोमवार चंडीगढ़ प्रेस क्लब में प्रेस से मुखातिब थे। उन्होंने स्ट्रेस और आज के जीवन पर बात की और बाद में पत्रकारों के कुछ सवालाें के जवाब भी दिए। उनसे पूछा गया कि क्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद का हल संभव है? तो उन्होंने कहा-इस पर दाेनों पक्षों को साथ बिठाकर बात की जा सकती है। ताकि कुछ हल निकल सके। लेकिन दोबारा इसी तरह के सवाल कि क्या बाबरी मस्जिद और राम मंदिर मामले में राजनीतिक पार्टियां सिर्फ अपना फायदा देख रही हैं। ताे वे हंसकर बोले-ये सब ताे आप लोग ही हमें बताएंगे। क्या वे मध्यस्थ की भूमिका निभाएंगे? इस पर भी उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।
यह भी कहा रविशंकर ने
- सभी तरह के नशे से सबको दूर रहना चाहिए क्योंकि नशा करने से ही बुरे काम शुरू होते हैं या फिर नशे में बुरे काम किए जाते हैं।
- कोई गुरु अगर रोजमर्रा की चीजें बनाने के काम में आता है तो इसलिए ताकि रोजगार के अवसर पैदा हों और सभी को साफ सुथरा, पौषटिक खाना कम कीमत पर मिल सके।
- बच्चे जो भी सीखते हैं वो बड़ों से। इसलिए बड़ों को इसका ध्यान रखना चाहिए कि बच्चे जो सीखेंगे उनसे ही उनके जीवन का निर्माण होगा।
- अयोध्या मामले पर कहा कि वे किसी के कहने पर काम नहीं करते। उन्होंने कहा कहा कि मामले का हल मिल बैठकर ही निकल सकता है कि एकतरफा बात से।
संत अपने लिए कोई बिजनेस नहीं करते
आजकल बाबा लोग बिजनेस में उतर रहे हैं। क्यों नहीं बिजनेस को सिर्फ बिजनेसमैन के लिए छोड़ दिया जाता? इस पर श्री श्री ने कहा-संत अपने लिए कोई बिजनेस नहीं करते। हम बेरोजगारी की समस्या को देखते हुए लोगों की मदद कर रहे हैं। हां, यह जरूर देखना चाहिए कि जो पैसा रहा है वह सही जगह लग रहा है या नहीं। अगर पैसा खुद के ऐशो आराम पर लगाया जा रहा है तो ये पूरी तरह गलत है। अगर यही पैसा गरीबों की मदद में लगाया जा रहा है तो ठीक है।
चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पत्रकारों से रू-ब-रू हुए श्री श्री रविशंकर। बाबरी मस्जिद और राम मंदिर पर पूछे गए सवाल हंस कर टाल गए।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×