--Advertisement--

एक बिजनेस आइडिया आपको जिता सकता है 1 करोड़ रुपए, जानें क्या है प्रोसेस

जो यंगस्टर्स आइडियाथोन कॉन्टेस्ट में पार्टीसिपेट करना चाहते हैं वे www.mindbatteries.com पर लॉगइन करें।

Dainik Bhaskar

Feb 18, 2016, 11:47 PM IST
माइंड बैट्रीज नाम के प्रोजेक्ट के पोस्टर लिए स्टूडेंट्स। माइंड बैट्रीज नाम के प्रोजेक्ट के पोस्टर लिए स्टूडेंट्स।
चंडीगढ़। यहां सिमरजीत सिंह ने माइंड बैट्रीज नाम के एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की है। इसके तहत इन्होंने ‘आइडियाथोन’ कॉन्टेस्ट इंट्रोड्यूस किया है। यह एक ऑनलाइन कॉन्टेस्ट है। अगर आपके पास कोई बेहतरीन बिजनेस आइडिया है तो आप इस कॉन्टेस्ट में हिस्सा ले सकते हैं। अगर आपका आइडिया कॉन्टेस्ट से जुड़े एंटरप्रेन्योर्स को पसंद आता है तो आपको एक करोड़ रुपए मिल सकते हैं। ऐसे मिलेंगे एक करोड़ रुपए...
- माइंड बैट्रीज प्रोजेक्ट के तहत कई देशों की कंपनियों के 15 सीओओज को जोड़ा गया है।
- ये वो लोग हैं जिनकी सफलता की कहानी प्रेरणादायक है।
- सिमरजीत इनके इंटरव्यू करेंगे आैर माइंड बैट्रीज की वेबसाइट, फेसबुक आैर यू ट्यूब पर शेयर करेंगे।
- हर इंटरव्यू के साथ एक ऑनलाइन कॉन्टेस्ट होगा। उस कॉन्टेस्ट में यंगस्टर्स को हिस्सा लेना है।
- मतलब कि अपने आइडिया शेयर करने हैं। जो आइडिया बेस्ट होगा उसका चयन एक्सपर्ट्स करेंगे।
- इसके लिए एक खास ज्यूरी पैनल भी बनाया गया है।
- जो आइडिया बेस्ट होगा उसे उस सीओओ से इन्वेस्टमेंट आैर बिजनेस में मदद मिलेगी।
ऐसे आया इस प्रोजेक्ट का आइडिया
सिमरजीत बोले, ‘पीयू से इंजीनियरिंग करने के बाद मैं चार साल से देशभर में एक एडुटेनर का काम कर रहा हूं। इसमें हम अलग-अलग तरह के क्विज, डिबेट्स और कॉन्फ्रेंस करते रहते हैं। इस दौरान जब कभी भी स्टूडेंट्स और यंगस्टर्स से बातचीत होती थी तो उनका यही कहना होता है कि वे आगे तो बढ़ना चाहते हैं लेकिन उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल रहा है। बस वहीं से यह कॉन्सेप्ट निकला।
ऐसे करें लॉगइन
जो यंगस्टर्स आइडियाथोन कॉन्टेस्ट में पार्टीसिपेट करना चाहते हैं वे www.mindbatteries.com पर लॉगइन करें।
बस का किराया बचाने के लिए जाते थे 14 किलोमीटर पैदल
- सिमरजीत ने बताया कि उन्हें विजय शेखर की कहानी काफी प्रेरणादायक लगी।
- अलीगढ़ के रहने वाले विजय शेखर एक मध्यवर्गीय परिवार से हैं।
- उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग की।
- कुछ देर नौकरी करने के बाद नौकरी भी छोड़ी। एक समय ऐसा भी आया जब विजय बस का किराया बचाने के लिए 14 किलोमीटर पैदल चलते थे।
- खैर, इन्होंने एक दिन अपना बिजनेस शुरू किया।
आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...
प्रोजेक्ट की शुरुआत करने वाले सिमरजीत सिंह। प्रोजेक्ट की शुरुआत करने वाले सिमरजीत सिंह।
सिमरजीत सिंह के साथ स्टूडेंट्स। सिमरजीत सिंह के साथ स्टूडेंट्स।
माइंड बैट्रीज प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न देशों के कंपनियों को साथ जोड़ा गया है। माइंड बैट्रीज प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न देशों के कंपनियों को साथ जोड़ा गया है।
जो आइडिया बेस्ट होगा उसे उस सीओओ से इन्वेस्टमेंट आैर बिजनेस में मदद मिलेगी। जो आइडिया बेस्ट होगा उसे उस सीओओ से इन्वेस्टमेंट आैर बिजनेस में मदद मिलेगी।
X
माइंड बैट्रीज नाम के प्रोजेक्ट के पोस्टर लिए स्टूडेंट्स।माइंड बैट्रीज नाम के प्रोजेक्ट के पोस्टर लिए स्टूडेंट्स।
प्रोजेक्ट की शुरुआत करने वाले सिमरजीत सिंह।प्रोजेक्ट की शुरुआत करने वाले सिमरजीत सिंह।
सिमरजीत सिंह के साथ स्टूडेंट्स।सिमरजीत सिंह के साथ स्टूडेंट्स।
माइंड बैट्रीज प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न देशों के कंपनियों को साथ जोड़ा गया है।माइंड बैट्रीज प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न देशों के कंपनियों को साथ जोड़ा गया है।
जो आइडिया बेस्ट होगा उसे उस सीओओ से इन्वेस्टमेंट आैर बिजनेस में मदद मिलेगी।जो आइडिया बेस्ट होगा उसे उस सीओओ से इन्वेस्टमेंट आैर बिजनेस में मदद मिलेगी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..