विज्ञापन

पॉलीक्लिनिक व डिस्पेंसरी में एंटी रेबिज इंजेक्शन नहीं, जनरल अस्पताल जाना पड़ा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:15 AM IST

Panchkula Bhaskar News - एक ओर हेल्थ डिपार्टमेंट लोगों के इलाज पर करोड़ों रुपए खर्चने का दावा कर रही है और दूसरी ओर शहर की डिस्पेंसरी में...

Panchkula News - anti rabies injection in polyclinic and dispensary had to go to general hospital
  • comment
एक ओर हेल्थ डिपार्टमेंट लोगों के इलाज पर करोड़ों रुपए खर्चने का दावा कर रही है और दूसरी ओर शहर की डिस्पेंसरी में मरीजों के इलाज के लिए मामूली वेक्सिन व टेटनेस की दवाइयां नहीं उपलब्ध होती। ऐसे में लोगों को इलाज के लिए सेक्टर 6 के जनरल अस्पताल का चक्कर लगाना पड़ता है। शनिवार को सेक्टर-20 के अर्श गोयल का ड्राइवर कशमीरा सिंह डॉग बाइट का शिकार हुआ।

अर्श उन्हें लेकर सेक्टर 20 की डिस्पेंसरी पहुंचे और वहां पर डॉक्टर को एंटी रेबिज वेक्सिन और टेटनेस का इंजेक्शन देने को कहा। डॉक्टर ने वेक्सिन और टेटनेस का इंजेक्शन नहीं होने की बात कह उन्हें सेक्टर 12ए की डिस्पेंसरी भेज दिया। वहां पर भी डॉक्टरों ने स्टोर में दवाइयां नहीं होने की बात कही। इसके बाद वह सेक्टर 16 की अर्बन डिस्पेंसरी पहुंचे और वहां पर भी दवाइयां नहीं होने की बात बताई गई। आखिरकार अर्श अपने ड्राइवर को लेकर सेक्टर 6 के जनरल अस्पताल में पहुंचे और वहां पर उन्होंने अपने ड्राइवर को एंटी रेबिज वेक्सिन और टेटनेस का इंजेक्शन दिलवाया।

घर के बाहर कुत्ते ने काटा : अर्श गोयल के ड्राइवर कश्मीरा सिंह ने बताया कि वह ढकौली स्थित अपने अपने घर के बाहर बैठे थे और पीछे से आकर उन्हें कुत्ते काट लिया। इसके बाद वह पहले ढकौली के डिस्पेंसरी में गए और वहां पर एंटी रेबिज वैक्सिनेशन नहीं होने के बाद सेक्टर 20, 12ए और सेक्टर 16 की डिस्पेंसरी गए लेकिन वहां भी वैक्सिनेशन नहीं मिला। फाइनली जनरल अस्पताल में ट्रीटमेंट करवाया। शुक्रवार व शनिवार को जनरल अस्पताल में डॉग बाइट के 5 नए केस आए। इसमें दो बच्चे भी शामिल थे। जनरल अस्पताल के डॉक्टरों की मानें तो रोजाना डॉग बाइट के नए केस आ रहे हैंं और उनमें ज्यादातर बच्चे व महिलाएं डॉग बाइट के शिकार हो रहे हैं।

सीएमओ बोले-डिस्पेंसरी के इंचार्ज से पूछेंगे...सीएमओ डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि शहर की डिस्पेंसरी व खासकर पॉलीक्लिनिक में टेटनेस और एंटी रेबिज वेक्सिन की दवाइयां होती हैं ताकि आसपास के लोगों को वैक्सिनेशन के लिए जनरल अस्पताल नहीं आना पड़े। मैं सभी डिस्पेंसरी के इंचार्ज से पूछता हूं कि क्या उनके पास वैक्सिनेशन की दवाइयां है या नहीं और नहीं हाेगी तो उन्हें उपलब्ध करवाया जाएगा।

X
Panchkula News - anti rabies injection in polyclinic and dispensary had to go to general hospital
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन