--Advertisement--

आसाराम को उम्र कैद का फैसला सुनते ही रो पड़े समर्थक, कही हो रहे थे हवन तो कहीं मांग रहे थे मन्नतें

आसाराम सजा सुनते ही नीचे बैठ गया, फूट-फूटकर रोई शिल्पी

Dainik Bhaskar

Apr 26, 2018, 08:56 AM IST
आसाराम को उम्रकैद होते ही रोने लगे उसके समर्थक। आसाराम को उम्रकैद होते ही रोने लगे उसके समर्थक।

चंडीगढ़. यौन शोषण केस में जोधपुर कोर्ट ने बुधवार को आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई। कोर्ट के फैसले से पहले मोहाली के सयूंक गांव स्थित आसाराम के आश्रम में उसके समर्थकों ने यज्ञ किया। फिर जैसे ही फैसला आया उसके बाद कई लोग रोने लगे। फिर मौके पर पुलिस पहुंची और उसने सभी को शांति पूर्ण तरीके से घर भेज दिया।

ये आया आसाराम के खिलाफ फैसला

16 साल की लड़की से दुष्कर्म के दोषी 80 साल के आसाराम को जोधपुर की अदालत ने बुधवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। यानी दुष्कर्मी आसाराम की बची हुई जिंदगी अब कैदी नंबर 130 के रूप में जोधपुर जेल में कटेगी। पॉक्सो एक्ट के तहत देश में पहली बार किसी दुष्कर्मी को आजीवन कारावास की सजा हुई है। एससी-एसटी कोर्ट के जज मधुसूदन शर्मा ने आसाराम के छिंदवाड़ा गुरुकुल की वार्डन शिल्पी और डायरेक्टर शरत चंद्र को भी 20-20 साल की सजा सुनाई है। दो अन्य आरोपी शिवा और रसोइया प्रकाश बरी कर दिए गए।

कैदी के रूप में भेजा जेल


- आसाराम तकरीबन पांच साल से जिस जेल से निकलने की आशा कर रहा था, फैसला भी वहीं लगी कोर्ट में हुआ और उसे वापस वहीं जेल में भेज दिया गया।

- जोधपुर सेंट्रल जेल में पिछले 4 साल 7 माह और 24 दिन से बंद आसाराम की पहचान बुधवार शाम से कैदी नंबर 130 के रूप में होने लगी है।

- सेंट्रल जेल में ही विचाराधीन बंदी के रूप में रहा आसाराम अस्थाई कोर्टरूम से बाहर निकला तो उसे सजायाफ्ता कैदी के रूप में वापस उसी वार्ड संख्या दो की बैरक नंबर एक में भेज दिया गया।

हवन करते समर्थक। हवन करते समर्थक।
पुलिस लोगों को घर भेजते हुए। पुलिस लोगों को घर भेजते हुए।
X
आसाराम को उम्रकैद होते ही रोने लगे उसके समर्थक।आसाराम को उम्रकैद होते ही रोने लगे उसके समर्थक।
हवन करते समर्थक।हवन करते समर्थक।
पुलिस लोगों को घर भेजते हुए।पुलिस लोगों को घर भेजते हुए।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..