Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» 18 Lakh Compensation For Family Of Youth Killed In Road Accident

सड़क हादसे में मारे गए युवक के परिवार को १८ लाख मुआवजे के निर्देश

सड़क हादसे में मारे गए युवक के परिवार को १८ लाख मुआवजे के निर्देश

Ravi Kumar | Last Modified - Jan 01, 2018, 12:20 PM IST

चंडीगढ़। 28 साल के जितेंदर कुमार पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। वह घर में अकेला कमाने वाला था लेकिन पिछले साल एक सड़क हादसे ने उसकी जान ले ली। अब करीब एक साल दो महीने के बाद उनके परिवार को अदालत से न्याय मिला है। मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल ने उनके परिवार को 18.90 लाख रुपए मुआवजा दिए जाने का फैसला सुनाया है। जितेंदर की पत्नी, बेटों और मां-बाप की ओर से ट्रिब्यूनल में क्लेम के लिए याचिका दायर की गई थी।



नारायणगढ़ के रहने वाले जितेंदर कुमार का खेती और मिल्क डेयरी का काम था। परिवार के मुताबिक दोनों से उन्हें करीब 47 हजार रुपए की मासिक आय थी। पूरे परिवार का खर्च जितेंदर ही चला रहा था। 13 अक्टूबर 2016 को जितेंदर अपनी मोटर साइकिल से अपने गांव की तरफ आ रहा था। याचिका के मुताबिक रात करीब साढ़े 8 बजे गांव बरसूमाजरा के पास एक तेज रफ्तार कार ने उनकी मोटर साइकिल को टक्कर मार दी। कार को कुरुक्षेत्र निवासी शिव कुमार चला रहा था। टक्कर इतनी जोरदार थी कि जितेंदर कुमार सड़क पर गिर गया।


उसे नारायणगढ़ के जनरल हॉस्पिटल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। आरोपी कार ड्राइवर के खिलाफ नारायणगढ़ पुलिस ने आईपीसी की धारा 279 और 304ए के तहत केस दर्ज कर लिया। आरोप के मुताबिक कार ड्राइवर बड़ी ही लापरवाही से गाड़ी चला रहा था जिस कारण ये हादसा हुआ। मृतक के परिवार ने आरोपी कार ड्राइवर, कार के मालिक और इंश्योरेंस कंपनी के खिलाफ ट्रिब्यूनल में याचिका दायर की और 80 लाख रुपए के क्लेम की मांग की।

कार चालक और मालिक ने हादसे में उनकी गलती से इनकार किया और याचिका को खारिज करने की मांग की। वहीं, इंश्योरेंस कंपनी ने अपने जवाब में कहा कि कार चालक के पास वैलिड ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था, जिस कारण उनसे मुआवजा नहीं मांगा जा सकता। दोनों पक्षों की बहस के बाद ट्रिब्यूनल ने परिवार के हक में फैसला सुनाया और 18 लाख 90 हजार 700 रुपए मुआवजा दिए जाने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×