--Advertisement--

बाइक की साइड पर लटके हुए दूध के ड्रम से टकराई एक्टिवा, फिर हुआ ये

बाइक की साइड पर लटके हुए दूध के ड्रम से टकराई एक्टिवा, फिर हुआ ये

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 10:19 AM IST
अब नहीं मिलेगी मां की ये गोद और अब नहीं मिलेगी मां की ये गोद और

चंडीगढ़. सेक्टर 36-42 डिवाइडिंग रोड पर दूध लेकर जा रहे बाइक सवार और एक्टिवा के बीच टक्कर हो गई। हादसे के समय एक्टिवा पर दंपति सवार थे जोकि अपने 9 महीने के बेटे को हॉस्पिटल लेकर जा रहे थे। हादसे में महिला की मौत हो गई, जबकि दूध वाला, महिला का पति और 9 महीने की बच्चे को कोई चोट नहीं आई। सेक्टर-36 थाना पुलिस ने दूध वाले के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

चंद्रभान मोहाली के बलौंगी में रहते हैं। घर में उनके अलावा दो बेटियां (13 साल की प्रीति और 10 साल की गुन्नू) हैं। चंद्रभान मोहाली में एक केमिस्ट की दुकान पर नौकरी करते हैं। दो दिनों से उनके बेटे प्रियांश को बुखार था। उसको चेक करवाने के लिए ही दोनों सेक्टर-22 हॉस्पिटल आ रहे थे। एक्टिवा चंद्रभान (हेलमेट लगाकर) चला रहे थे, जबकि 35 साल की सुनीता बेटे को पकड़कर पीछे बैठी हुई थी।

दूध वाले ने ओवरटेक किया

सेक्टर 36-42 डिवाइडिंग रोड पर उनके पास से एक दूध वाले ने ओवरटेक किया। ओवरटेक करते समय दूध का ड्रम चंद्रभान के एक्टिवा के हैंडल से टकरा गया। वह अनियंत्रित हुए और नीचे गिर गई। बाप-बेटा ठीक थे, लेकिन सुनीता बेहोश हो गई थी। चंद्रभान एक ऑटो से बेटे और बेहोश पत्नी को लेकर जीएमएसएच-16 अस्पताल पहुंचे। वहां पर डॉक्टरों ने सुनीता को मृत घोषित कर दिया। प्राथमिक स्तर पर देखने में सामने आया कि मौत का कारण सुनीता के सिर में चोट लगना था। चंद्रभान के दो भाई और उनकी पत्नी भी जीएमएसएच-16 पहुंचे। जहां बच्चा सारा दिन अस्पताल में चाची की गोद में रहा।

मेरे बच्चों को अब कौन संभालेगा...

चंद्रभान की बड़ी बेटी की किडनी खराब है जिसका हर हफ्ते डायलिसिस होता है। दो साल पहले उनकी छोटी बेटी छत्त से नीचे गिर गई थी जिसकी पीठ में गंभीर चोट है। पुलिस चौकी में बाहर बैठकर चंद्रभान सारा दिन रोते हुए बस यही बोलते रहे कि उनके बच्चों को अब कौन संभालेगा।