Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Accused Of Sand Mine Contracts, Minister Rana Gurjit Singh Resigns

पंजाब: राणा गुरजीत सिंह ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, बेटे को ईडी ने बुलाया

पिछले दिनों प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरजीत सिंह के बेटे को मनी लॉड्रिंग के एक मामले में समन भेजा था।

Harish Manav | Last Modified - Jan 16, 2018, 12:40 PM IST

  • पंजाब: राणा गुरजीत सिंह ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, बेटे को ईडी ने बुलाया
    +1और स्लाइड देखें
    राणा गुरजीत सिंह

    चंडीगढ़: राणा गुरजीत सिंह ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत ने ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग से अपना इस्तीफा पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को भेज दिया है।

    वहीं, DainikBhaskar.com से बातचीत में राणा गुरजीत ने कहा कि "मैंने इस्तीफे की पेशकश की है और अब इस पर निर्णय सीएम अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के राष्टीय अध्यक्ष राहुल गांधी को लेना है। उन्होंने लेटर में कैप्टन से कहा है कि सीएम साहब, 'मैं बहुत आहत होता हूं, जब मेरे ऊपर लगे झूठे आरोपों से आपकी बदनामी हो। इससे अच्छा है मैं पद से ही त्याग दे दूं।"

    उल्लेखनीय है कि राणा गुरजीत सिंह और उनके परिवार से जुड़ी कुछ कंपनियों का नाम रेत खनन आवंटन की गड़बड़ियों में सामने आया है। पिछले दिनों प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरजीत सिंह के बेटे राणा इंद्र प्रताप सिंह को ईडी ने फेमा एक्ट के उल्लंघन में समन जारी कर 17 जनवरी 2018 को सुबह 10 बजे दफ्तर में बुलाया है। राणा के बेटे पर आरोप है कि उनकी कंपनी राणा शूगर्स लिमिटेड के नाम पर विदेश में शेयरों या जीडीआर (ग्लोबल डिपॉजिटरी रिसीट) के रूप में करीब सौ करोड़ रुपए जुटाए हैं।


    ईडी का कहना है कि राणा शूगर्स ने शेयरों की खरीद-फरोख्त के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक की मंजूरी नहीं ली और ही बताया। कैबिनेट मंत्री राणा के बेटे राणा कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं, इसलिए ईडी उनसे फेमा के उल्लंघन को लेकर तीखे सवाल-जवाब के मूड में है। उनसे पूछताछ जालंधर दफ्तर में डिप्टी डायरेक्टर राहुल सोहू करेंगे। ईडी को शक है कि राणा की कंपनी ने विदेशों में बैंकों से विदेशी निवेशकों या संस्थाओं द्वारा उठाए गए लोन के लिए गारंटी दी थी।

    ये है पूरा मामला...

    दरअसल, कुछ महीनों पहले पंजाब में कई जगहों पर रेत खदानों की नीलामी हुई थी। इस दौरान राणा गुरजीत सिंह पर आरोप लगा था कि उन्होंने मनमाने तरीके से अपनी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए रेत खदानों की नीलामी की है। राणा पर आरोप लगने के बाद उन्हें विपक्ष के तीखे हमलों का सामना करना पड़ा था। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुखपाल खैरा कई कार्यक्रमों में राणा और कैप्टन सरकार को इसके लिए निशाना बनाते नजर आते हैं। मंगलवार को भी उनके इस्तीफे के बाद खैरा ने कहा कि राणा गुरजीत सिंह ने कई घोटाले किए हैं, वो भ्रष्ट और बेईमान आदमी हैं, राणा गुरजीत सिंह के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग को लेकर हम कोर्ट जाएंगे।

  • पंजाब: राणा गुरजीत सिंह ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, बेटे को ईडी ने बुलाया
    +1और स्लाइड देखें
    राणा गुरजीत सिंह
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Accused Of Sand Mine Contracts, Minister Rana Gurjit Singh Resigns
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×