चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

ऐसे होती है डैहर पावर प्रोजेक्ट की टनल से सिल्ट निकासी

ऐसे होती है डैहर पावर प्रोजेक्ट की टनल से सिल्ट निकासी

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 10:42 AM IST
पहाड़ से नीचे सतलुज में गिराया पहाड़ से नीचे सतलुज में गिराया

मंडी। हिमाचल के मंडी के सलापड़ में बने डैहर पावर हाउस की टनल से जाने वाली सिल्ट निकासी अद्भुत नजारा प्रस्तुत करती है। जब यह सिल्ट निकाली जाती है तो हर कोई इसे देखने से अपने आप को रोक नहीं पाता। सुंदरनगर झील से टनल में आकर जमा होने वाली सिल्ट को निकालने के लिए प्रोजेक्ट के पावर हाउस के ऊपर पहाड़ी पर सिल्ट निकासी प्वाइंट यानि आउटलेट बनाया गया है। हर छह माह में दो से तीन बार देखने को मिलता है ऐसा नजारा...


यहां से टनल के पानी को सिल्ट निकासी के लिए सीधे तौर सतलुज नदी में गिराया जाता है। छह माह में दो या तीन बार यह अलौकिक दृष्य बनाता है। टनल में जमा होने वाली सिल्ट पावर हाउस की मशीनों में पहुंच कर मशीनों को नष्ट न करे, इसके लिए समय-समय पर पावर हाउस के ऊपर पहाड़ी पर बनाए गए इस आउटलेट के माध्यम से सिल्ट की निकासी की जाती है। यह जगह चंडीगढ़ से 250 किलोमीटर दूर हिमाचल के मंडी के पास स्थित है।


990 मैगावाट बिजली पैदा करता है प्रोजेक्ट...


डैहर पावर हाउस सुंदरनगर के पास सलापड़ में बनाया गया है। जिसके लिए पंडोह से टनल बना कर ब्यास व सतलुज नदी को जोड़ा गया है। 990 मैगावाट के इस प्रोजेक्ट के लिए 2 टनल बनाई गई हैं। एक पंडोह से लेकर बग्गी तक बनी हुई है। जहां से आगे खुली नहर के माध्यम से पानी सुंदरनगर पहुंचाया गया है। सुंदरनगर में प्रोजेक्ट का रिर्जववायर बनाया गया है। जहां से फथ्र टनल बना कर ब्यास के पानी को सतलुज नदी तक पहुंचाया गया है। जिसके लिए डैहर नामक स्थान पर पावर हाउस बनाया गया है। हिमाचल प्रदेश में बने इस प्रोजेक्ट का निर्माण 1977 में हुआ है। इस प्रोजेक्ट का बीबीएमबी (भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड) द्वारा बनाया गया है।

भारत की सबसे बड़ी सुरंग परियोजना...


यह परियोजना 990 मेगावाट तक बिजली उत्पन्न करती है। डैहर पावर हाउस एनएच-21 के किनारे पर बना हुआ है। जिसके चलते यह सिल्ट निकासी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यह प्रोजेक्ट भारत की सबसे बड़ी सुरंग परियोजना है। डैहर पावर हाउस बिजली उत्पादन के लिए ब्यास नदी का पानी का उपयोग किया जाता है।

आगे की स्लाइड्स भी देखें...


X
पहाड़ से नीचे सतलुज में गिराया पहाड़ से नीचे सतलुज में गिराया
Click to listen..