--Advertisement--

नेशनल स्कूल गेम्स में रिद्धिमा ने साधा सोने पर निशाना

नेशनल स्कूल गेम्स में रिद्धिमा ने साधा सोने पर निशाना

Danik Bhaskar | Dec 06, 2017, 05:01 PM IST
इनसेट में धर्मेंद्र और पंजाब म इनसेट में धर्मेंद्र और पंजाब म

लुधियाना। एक्टर धर्मेंद्र का 8 दिसम्बर को 83वां जन्मदिन है। उनका जन्म लुधियाना के नसराली गांव में हुआ। पिता का तबादला होने के बाद उनका परिवार लुधियाना के गांव साहनेवाल में रहने लगा। इस मौके पर DainikBhaskar.com आपको बता रहा है उनके युवावस्था का एक किस्सा जो उन्होंने मीडिया को एक इंटरव्यू में बताया था। बिना टिकट चढ़ गए थे बस छत पर

पांच आने बचने की थी खुशी...

- धर्मेंद्र कहते हैं कि उन्हें फिल्में देखने का शौक शुरू से था। फिल्म देखने के लिए कॉलेज से बंक तक कर लेते थे।

-जब धर्मेंद्र एक्टर नहीं बने थे, तब फिल्म देखने के लिए फगवाड़ा से जालंधर तक बस में आते थे। एक बार वह जालंधर से फगवाड़ा लौट रहे थे, तो वे बिना टिकट बस की छत पर चढ़ गए।
- जब बस फगवाड़ा पहुंची तो उतरते समय कंडक्टर के साथ उनकी बहस हो गई। तब कंडक्टर और उन्होंने एक-दूसरे को जमकर पंजाबी में गालियां निकाली।

टीचर पिता से लगता था डर...

- धर्मेंद्र को अपने पिताजी की डांट से डर लगता था। उनके पिताजी स्कूल में टीचर थे। धर्मेंद्र ने बताया था कि उनके पिता, टीचर थे इसलिए उनसे वह बहुत डरते थे।

-बचपन के बारे में हंसते हुए धर्मेंद्र ने बताया कि उनका बचपन बेहद शरारती था।
-गाय की बछिया अक्सर दूध पी जाती थी, इसलिए उसको बांधकर रखा जाता था लेकिन मैं अक्सर उसको खोल देता था ताकि वह जाकर दूध पी ले, इसके लिए डांट भी पड़ती थी।

2006 में 11 फरवरी को आए थे फगवाड़ा...

एक्टर धर्मेंद्र जब 2006 में बीकानेर से सांसद थे तब वह 11 फरवरी को फगवाड़ा आए थे। वे लगभग तीन घंटे यहां रुके थे और उन्होंने पंजाब में बिताए हुए दिनों को याद करते हुए गालियों में घूमते हुए फगवाड़ा जिंदाबाद के नारे लगाए थे। उल्लेखनीय है कि धर्मेंद्र का बचपन पंजाब में गुजरा है। यहां उन्होंने स्कूल औक कॉलेज की पढ़ाई की थी। इसके बाद वह मुंबई चले गए थे।

आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...