--Advertisement--

गैंगस्टर के एनकाउंटर के बाद घरवालों का रो-रोकर हुआ बुरा हाल, खेल की दुनिया छोड़ उठा ली थी बंदूक

गैंगस्टर के एनकाउंटर के बाद घरवालों का रो-रोकर हुआ बुरा हाल, खेल की दुनिया छोड़ उठा ली थी बंदूक

Danik Bhaskar | Jan 27, 2018, 04:15 PM IST

जालंधर। शुक्रवार को एनकाउंटर में मारे गए कुख्यात गैंगस्टर विक्की गौंडर के माता-पिता ने कभी सोचा भी नहीं था कि उनका बेटा खेल की दुनिया को छोड़ कर अपराध की दुनिया का दरवाजा खटखटाएगा और यह रास्ता उसे सीधे मौत के दरवाजे पर जा पहुंचेगा। अपराध की दुनिया छोड़ कर फिर से दोस्त के कहने पर बना था गैंगस्टर...

हालांकि विक्की गौंडर अपने एक मित्र की मौत के बाद स्पोट्स स्कूल छोड़ कर अपराध की दुनिया भी छोड़ वापिस गांव लौट आया था, लेकिन उसनेे फिर उसी फिर उसी अपराध की दुनिया को चुन लिया। विक्की गौंडर के अपराधी बनने के बाद उसके परिवार वालों ने उससे किनारा कर लिया था, उसकी मौत के बाद उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।


मुक्तसर के गांव सरावां बोदला के छोटे से किसान महल सिंह का बेटा हरजिंदर सिंह उर्फ विक्की गौंडर हैमर थ्रो का नेशनल प्लेयर था और जालंधर का प्रेमा लाहौरिया 100 मीटर हर्डल रेस का प्लेयर था। दोनों की स्पोर्ट्स स्कूल जालंधर में 2009 में दोस्ती हुई थी। सुक्खा काहलवां से दोस्ती होने के बाद वह सुक्खा के साथ जुर्म के रास्ते पर चलते पड़े।

इसके बाद सुक्खा ने गौंडर के बेहद करीबी लवली बाबा का कत्ल कर दिया। इससे सुक्खा- विक्की की दुश्मनी पड़ी और उसने स्पोर्ट्स स्कूल छोड़ दिया और गांव लौट आया। मगर यहां से प्रेमा ने उसका हाथ पकड़ा और उसे फिर से अपराध की दुनिया में ले गया और विक्की गौंडर ने दोबारा बंदूक उठा ली।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज