--Advertisement--

तंवर के मंथन शिविर पर हुड्डा का कटाक्ष, बोले- अब मंथन का नहीं सड़क पर लड़ने का समय

तंवर के मंथन शिविर पर हुड्डा का कटाक्ष, बोले- अब मंथन का नहीं सड़क पर लड़ने का समय

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 03:40 PM IST

चंडीगढ़। गुड़गांव में हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक तंवर की ओर से भाजपा सरकार की विफलताएं उजागर करने के लिए लगाए गए मंथन शिविर पर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि यह समय अब मंथन का नहीं है, बल्कि सड़क पर आकर लड़ने का है। शिविर में जाने को लेकर उन्होंने कहा कि मंथन शिविर की न तो उन्हें कोई जानकारी है और न ही उन्हें इसमें अामंत्रित किया गया था।

उन्होंने कहा कि विपक्ष के नाते अब तक उन्होंने दलित, किसान, मजदूर, व्यापारी और कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर सरकार को जगाने का काम किया था, लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ। इसलिए अब समय सरकार को जगाने का नहीं बल्कि भगाने का है।


हुड्डा मंगलवार को सुबह चंडीगढ़ में अपने सरकारी आवास पर मीडिया कर्मियों से बात कर रहे थे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष पद को लेकर हम सबने सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित करके पार्टी हाईकमान को भेज रखा है।

इस पर राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को फैसला लेना है। केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण को संगठन चुनाव की प्रक्रिया के तहत मौजूदा सभी अध्यक्षों को आगामी बदलाव तक पद पर बने रहने के लिए कहा गया है। हुड्डा ने कहा कि प्रदेश के लोगों की आवाज को बुलंद करने के लिए वे फरवरी के आखिरी सप्ताह में प्रदेश में रथयात्रा निकालेंगे। इसके माध्यम से वे गांव-गांव जाकर लोगों से मिलेंगे। सरकार के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। लिंगानुपात में सुधार को लेकर भले ही भाजपा सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। लेकिन, सच्चाई यह है कि कांग्रेस राज में बनाई गई लाड़ली जैसी अनेक योजनाओं की वजह से ही लिंगानुपात में सुधार हुआ है।