--Advertisement--

मिनर्वा के दो कोच बेस्ट बनने की दौड़ में

मिनर्वा के दो कोच बेस्ट बनने की दौड़ में

Danik Bhaskar | Jan 05, 2018, 05:51 PM IST

चंडीगढ़। आईलीग-2018 खिताब की प्रबल दावेदार मिनर्वा पंजाब एफसी को एक बड़ी सफलता मिली है। टीम के दो कोचेज को एफएफसीआई टॉप अवॉर्ड्स के लिए नॉमिनेट किया गया है। आईलीग में पंजाबी सॉकर पावरहाउस का नेतृत्व कर रही टीम मिनर्वा को पहला नॉमिनेशन आईलीग क्लब आॅफ द मंथ के लिए मिला है जबकि टीम को कोच और अस्सिटेंट कोच आॅफ द मंथ की दौड़ में शामिल किया गया है। टीम के हेड कोच वांगखेम खोगन सिंह को कोच आॅफ द मंथ और सचिन बडाडे को अस्सिटेंट कोच के लिए नॉमिनेट किया गया है। आॅल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन द्वारा 2011 में मान्यता प्राप्त फेडरेशन आॅफ फुटबॉल कोचेज इन इंडिया ने इन अवॉर्ड को शुरू किया था। ये अवॉर्ड आठ जनवरी को कलकत्ता स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट क्लब में तीन बजे दिए जाएंगे।


फेडरेशन आॅफ फुटबॉल कोचेज इन इंडिया इन अवॉर्ड को हर महीने की परफॉर्मेंस के आधार पर टीम को देता है। उनकी लीड पॉजिशन को ध्यान में रखते हुए 30 दिन के प्रदर्शन पर टीमों को अंक दिए जाते हैं। इसके अलावा क्लब की डेवलपमेंट और प्लेइंग फिलास्फी पर भी फोकस किया जाता है। मिनर्वा पंजाब एफसी को एफएफसीआई के चीफ मेंटर और एआईएफएफ के टेक्नीकल कमेटी के चेयरमैन श्याम थामा ये अवॉर्ड देंगे। मोहाली के इस क्लब ने पिछले कुछ सालों में फुटबॉल में काफी काम किया है और गेम डेवलपमेंट में भी टीम का अहम योगदान रहा है। टीम के 33 प्लेयर्स अलग अलग कैटेगरी में भारतीय टीम की ओर से खेले हैं। इसकी शुरुआत अंडर-15 टीम से हुई और टीम के प्लेयर्स सीनियर इंडियन टीम के भी सदस्य रहे। फीफा वर्ल्ड कप में भारत के लिए पहला गोल करने वाला फुटबॉलर भी क्लब का ही मेंबर रहा। इसके अलावा क्लब की ओर से खेलने वाले तीन और प्लेयर्स भी फीफा वर्ल्ड कप टीम के सदस्य रहे।