Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» No Longer On GPA And SPA, Property Must Be Registered

जीपीए और एसपीए पर नहीं अब प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री ही करवानी होगी

जीपीए और एसपीए पर नहीं अब प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री ही करवानी होगी

yograj sharma | Last Modified - Jan 14, 2018, 12:03 PM IST

चंडीगढ़। जनरल पावर ऑफ अटार्नी(जीपीए) और स्पेशल पावर ऑफ अटार्नी(एसपीए) पर प्रॉपर्टी ट्रांसफर करने पर चंडीगढ़ प्रशासन ने रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का हवाला देते हुए जीपीए, एसपीए पर होने वाली प्रॉपर्टी ट्रांसफर को बंद कर दिया है। इन निर्देशों को 11 अक्टूबर 2011 से ही लागू कर दिया गया है।

प्रॉपर्टी के काम से जुड़े एक्सपर्ट की मानें तो इस फैसले से प्रॉपर्टी की सेल परचेज बहुत कम हो जाएगी। इसका बड़ा कारण ये कि लोगों को सीधे रजिस्ट्री ही करवानी पड़ेगी और जो प्रॉपर्टी पहले ही जीपीए या एसपीए पर है उसको भी अगर कोई खरीदता है तो उसकी रजिस्ट्री ही करवानी पड़ेगी जिसके लिए ओरिजनल अलॉटी का होना जरूरी होगा।

वहीं दूसरी तरफ खासतौर से कमर्शियल प्रॉपर्टी पर भी इन निर्देशों का असर इसलिए पड़ेगा क्योंकि रजिस्ट्री होगी कलेक्टर रेट के हिसाब से और चंडीगढ़ में कलेक्टर रेट मार्केट रेट से ज्यादा है जिसके चलते यहां पर भी इसका असरर होगा।

चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड, सोसाइटियां और इस्टेट ऑफिस की भी ज्यादातर प्रॉपर्टी जीपीए और एसपीए पर ही हैं। एक ही मकान चार चार बार जीपीए पर बिक चुका हैं। इस बारे में चीफ एडवाइजर प्रॉपर्टी कंसल्टेंट एसोसिएशन चंडीगढ़ कमलजीत सिंह पंछी ने कहा कि निर्देशों को अभी से लागू किया जाना चाहिए था।

रजिस्ट्री अगर होती है लीज होल्ड प्रॉपर्टी की तो उसमें कलेक्टर रेट के हिसाब से 5 परसेंट स्टैंप ड्यूटी गवर्नमेंट को जमा करवानी पड़ती है जबकि लीड होल्ड प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवानी हो तो ऐसे मामले में 3 परसेंट स्टैंप ड्यूटी लगती है।



दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×