--Advertisement--

अब पंचकूला में होगा ब्लाइंड्स का दे दना दन

अब पंचकूला में होगा ब्लाइंड्स का दे दना दन

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 06:17 PM IST

चंडीगढ़। द ब्लाइंड क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से नेशनल क्रिकेट एसोसिएशन फॉर ब्लाइंड का आयोजन 18 जनवरी से पंचकूला में किया जाएगा। 18 से लेकर 20 तक नेशनल में हिस्सा लेने वाली आठ टीमें लीग मैच खेलेंगी और इसके बाद 21 को फाइनल मैच खेलो जाएगा। टूर्नामेंट का आयोजन ब्लाइंड क्रिकेटर्स को भी आगे लान९ का मौका देना है। इसमें पंजाब, चंडीगढ़ के अलावा उत्तर प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, वेस्ट बंगाल और ओडिशा की टीमें हिस्सा लेंगी। टूर्नामेंट की शुरुआत ताऊ देवी लाल स्टेडियम में 18 जनवरी को सुबह 10 बजे होगी और इसका आगाज एमएलए ज्ञानचंद गुप्ता करेंगे। एसोसिएशन ने इंस्टीट्यूट फॉर ब्लाइंड्स सेक्टर-26 में इस बारे में बात की। यहां पर इंटरनेशनल ब्लाइंड क्रिकेटर मानवेंद्र सिंह पटियाल, निर्मल सिंह, राजेंद्र वर्मा समेत मेजर राजेवेंद्र नाथ और सुभाष वर्मा भी मौजूद रहे। मानवेंद्र ब्लाइंड क्रिकेट एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी भी हैं और उन्होंने ब्लाइंड क्रिकेटर्स के लिए काफी काम किया है।
मनविंदर ने कहा कि क्रिकेट के जरिए सभी को सामान लाने का कोई रास्ता नहीं हो सकता। हमने कई सालों तक क्रिकेट खेला है और अब समय दूसरों को मौका देने का है। इसमें सभी लंबे शॉट्स लगाने में सक्षम है। सभी प्लेयर्स बॉलिंग अंडरआर्म करेंगे और बॉलिंग पिच के बीच में से डाली जाएगी। उन्होंने कहा कि इसमें दो पूल बनाए गए और सभी टीमों को उसमें बांटा गया है। पहले पूल में कर्नाटक, वेस्ट बंगाल, पंजाब, यूपी को जगह दी गई है जबकि दूसरे पेल में चंडीगढ़ के साथ साथ उत्तराखंड, राजस्थान और ओडिशा को पूल बी में बांटा गया है। टूर्नामेंट के पहले दिन चार लीग मैच खेले जाएंगे जिसमें से तीन मैच ताऊ देवी लाल स्टेडियम में होंगे और एक मैच सीएल डीएवी स्कूल में होगा। पंजाब और कर्नाटक के बीच पहला मैच होगा। 21 को दोनों ग्रुप की टॉप टीमों के बीच फाइनल खेला जाएगा।


ऐसे खेला जाएगा मैच:
-बॉलिंग अंडर आर्म होगी और सभी बॉलर्स पिच के बीच में से बॉल करेंगे
-बॉलिंग करने से बॉलर आवाज देकर बताएगा कि वो रेडी है, ऐसे ही बैट्समेन भी बोल कर बताएगा कि वो खेलने के लिए तैयार है
-सभी बाउंड्री 45 से 50 यार्ड तक की होगी और इसकी दूरी पिच से नापी जाएगी

हर टीम में होंगे 11-11 प्लेयर्स
-चार प्लेयर्स बी-वन कैटेगरी के होंगे जो पूरी तरह से ब्लाइंड होंगे
- तीन प्लेयर्स बी-2 कैटेगरी के होंगे जो आंशिक रूप से ब्लाइंड होंगे
- चार प्लेयर्स टीम में बी-3 कैटेगरी के होंगे जो कुछ हद तक देख सकते होंगे