Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Owner Of Liberty House Group Sanjeev Gupta Will Buy American Company

इस इंडियन का है खरबों का कारोबार, अब अरबों में खरीदेंगे अमेरिकी कंपनी

इस इंडियन का है खरबों का कारोबार, अब अरबों में खरीदेंगे अमेरिकी कंपनी

suraj thakur | Last Modified - Dec 23, 2017, 03:44 PM IST

लुधियाना. संजीव गुप्ता वे व्यक्ति हैं, जिन्होंने भारी-भरकम आर्सेलर मित्तल कंपनी को खरीदने के बाद लेकर सबको चौंकाया था। अब वे 10 अरब डॉलर में अमेरिकी कंपनी लेने जा रहे हैं। आर्सेलर मित्तल एक वैश्विक इस्पात कंपनी है जिसका मुख्यालय लक्जिमबर्ग में स्थित है। यह विश्व में सबसे बड़ी इस्पात उत्पादक कंपनी है।पढ़ें पूरी खबर...

पंजाब के लुधियाना में पैदा हुए संजीव के पिता पी. गुप्ता ने लंदन में ही अपने पिता के साथ कारोबार शुरू किया था। लिहाजा संजीव की शिक्षा लंदन में ही हुई। सेंट एडमंड स्कूल और ट्रिनिटी कॉलेज कैम्ब्रिज में पढ़े संजीव ने खुद का लिबर्टी ग्रुप शुरू किया, जो पहले एफएमसीजी का काम करता था, अब स्टील पर काम करता है।

पंजाब के रहने वाले हैं संजीव...

संजीव कुमार गुप्ता पंजाब के रहने वाले हैं। इंग्लैंड के उद्योग जगत में वह एसकेजी के नाम से मशहूर हैं। उनके पिता पीके गुप्ता की विक्टर साइकिल्स नाम की फैक्ट्री थी। अभी वह बहुराष्ट्रीय ट्रेडिंग कंपनी सीमेक के चेयरमैन हैं। संजीव ने 1995 में कैंब्रिज से ग्रेजुएट और ट्रिनिटी कॉलेज से मास्टर्स की डिग्री ली। छात्र जीवन में ही 1992 में लिबर्टी हाउस की स्थापना की। दुनियाभर में इसके करीब 2,000 कर्मचारी है। लिबर्टी हाउस का सालाना टर्नओवर छह अरब डॉलर (करीब 40,000 करोड़ रु.) है।

ब्रिटेन के बड़े इंडस्ट्रियल एंप्लॉयर...

2015 से लिबर्टी हाउस ग्रुप एक ट्रेडिंग कंपनी से आगे बढ़कर ब्रिटेन के बड़े इंडस्ट्रियल एंप्लॉयर के तौर पर उभरा है। यह ब्रिटेन के अंतिम एल्यूमीनियम स्मेल्टर, सबसे बड़ी स्टील प्लेट मिल और सबसे बड़ी स्क्रैप मेल्टिंग कैपेसिटी का मालिक है। इसने कुछ समय पहले टाटा स्टील के स्पेशियलिटी स्टील बिजनेस को खरीदा था, जो ऑटोमोटिव, एरोस्पेस, इंडस्ट्रियल और एनर्जी क्लाइंट्स को हाई वैल्यू स्टील की सप्लाई करता है। इस बिजनेस का नाम अब बदलकर लिबर्टी स्पेशियलिटी स्टील्स किया गया है।

आगे की स्लाइड्स भी देखें



दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ye hain khrbpti indiyn, aarselr ke baad ab arbon ki khridengae ameriki kampany
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×