Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Penalty For Commercial Use Of Power

कमर्शियल यूज की बिजली तो लगेगी पेनल्टी

विभाग का कहना है कि चंडीगढ़ में कुल 2,28,768 कंज्यूमर्स हैं।

Yograj sharma | Last Modified - Jan 24, 2018, 01:31 PM IST

चंडीगढ़. इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट ने अपने उन कंज्यूमर्स से अतिरिक्त बिल वसूलने की तैयारी कर ली है जो डोमेस्टिक कनेक्शन का इस्तेमाल कमर्शियल एक्टिविटी के लिए कर रहे हैं। विभाग का कहना है कि चंडीगढ़ में कुल 2,28,768 कंज्यूमर्स हैं।

इनमें से 1,99,724 कंज्यूमर्स डोमेस्टिक कैटेगरी के हैं। जो कि लगभग 87 प्रतिशत है। इनमें से रोड साइड में रहने वाले कईं कंज्यूमर्स ऐसे हैं जो डोमेस्टिक कनेक्शन का इस्तेमाल कमर्शियल एक्टिविटी के लिए कर रहे हैं। वर्तमान समय में इन कंज्यूमर्स से कोई भी अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जा रहा है। लेकिन ऐसा करने से अन्य कं'यूमर्स भी इसी तरह से डोमेस्टिक कनेक्शन का गलत इस्तेमाल करेंगे। ऐसे कं'यूमर्स को डोमेस्टिक मिसयूज कं'यूमर्स कैटेगरी में लाते हुए उनसे 7.44 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिल वसूल करना चाहिए।

इस कैटेगरी में भी स्लैब रखे गए हैं। शून्य से लेकर 400 यूनिट बिजली खर्च करने पर टैरिफ 7.44 रुपए ही रहेगा। लेकिन 400 से अधिक यूनिट बिजली का इस्तेमाल करने पर टैरिफ 8.10 रुपए कर दिया जाएगा। ऐसे कंज्यूमर्स से 28.80 रुपए प्रति किलोवॉट से लेकर 146.40 रुपए प्रति किलोवॉट के हिसाब से फिक्स्ड चार्ज भी वसूल किया जाना चाहिए।

यहां हो रहा है काम:-

डोमेस्टिक एरिया में कमर्शियल एक्टिविटी की कोई परमीशन संबंधित अथॉरिटी से नहीं ली गई है। इसलिए चैकिंग किए जाने के बावजूद इलेक्ट्रिसिटी विंग द्वारा कमर्शियल टैरिफ नहीं लगाया जा सकता। क्योंकि नॉन डोमेस्टिक एक्टिविटी के लिए पर्याप्त डॉक्यूमेंट की कमी रहती है। इसलिए ऐसे कंज्यूमर्स से 20 प्रतिशत अधिक टैरिफ वसूल किया जाना चाहिए। जिससे कि डोमेस्टिक कनेक्शन का गलत इस्तेमाल न हो सके।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: commercial yuj ki bijli to lgaegai penlti
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×