--Advertisement--

ये हैं आर्मी ज्वॉइन करने वाली पहली मेजर, प्रेसिंडेंट देंगे फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड

ये हैं आर्मी ज्वॉइन करने वाली पहली मेजर, प्रेसिंडेंट देंगे फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड

Danik Bhaskar | Jan 20, 2018, 12:44 PM IST
चंडीगढ़ की प्रिया झिंगन चंडीगढ़ की प्रिया झिंगन

चंडीगढ़ . शहर की प्रिया झिंगन को शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दिल्ली में फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से सम्मानित किया। देश के विभिन्न राज्यों की 112 महिलाओं को राष्ट्रपति भवन में विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी रहकर काम करने के लिए सम्मानित किया गया है। यह अवॉर्ड को महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय द्वारा दिया गया। सम्मान समारोह में केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी भी मौजूद थीं।


प्रिया एक पुलिस अधिकारी की बेटी होने के कारण पहले पुलिस ज्वॉइन करना चाहती थीं, लेकिन बाद में उन्होंने आर्मी चीफ जनरल रॉड्रिक्स को लेटर लिखकर आर्मी जॉइन करने की इच्छा जाहिर की। आर्मी ज्वॉइन करने के बाद वे इन्फेंट्री डिवीजन जॉइन करना चाहती थीं। उनकी इस रिक्वेस्ट को आर्मी के अफसरों ने रिजेक्ट कर दिया। लॉ ग्रेजुएट होने के कारण ही उन्हें जज एडवोकेट जनरल में पोस्टिंग मिली। सेना में 10 साल की सर्विस के बाद 2002 में रिटायर हुईं प्रिया के अनुसार वे हमेशा से महिलाओं के सेना जॉइन करने के पक्ष में रही हैं। वे टीवी सीरियल खतरों के खिलाड़ी में भी भाग ले चुकी हैं।

1992 में ज्वॉइन ​की थी आर्मी...


मेजर प्रिया झिंगन आर्मी ज्वॉइन करने वाली पहली एनसीसी कैडेट हैं। प्रिया झिंगन ने 1992 में इंडियन आर्मी जॉइन की थी। प्रिया ने ही चीफ आॅफ आर्मी स्टाफ को 1988 में लेटर लिखकर महिलाओं को सेना में ज्वॉइन करने के लिए कहा था। प्रिया शिमला की रहने वाली हैं, लेकिन मौजूदा समय में वे मनीमाजरा में रह रही हैं। झिंगन ने 1992 में आॅफिसर ट्रेनिंग अकादमी चेन्नई में ज्वॉइन किया था।

सिल्वर मेडलिस्ट होने के कारण उन्हें 6 मार्च 1993 को जज एडवोकेट्स जनरल डिपार्टमेंट में कमीशन मिला था। प्रिया एक कुशल ट्रैक लीडर होने के साथ-साथ क्वालीफाइड स्कीअर भी हैं। प्रिया के अनुसार वह शुरू से ही कुछ अलग करना चाहती थी। एनसीसी कैडेट बनते ही उन्होंने सोच लिया था कि वह सेना ज्वॉइन करेंगी। इसके लिए उन्हें लंबी जद्दोजहद करनी पड़ी।