Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Punjabs Response To Punjab Expulsion From PU Of Haryana Colleges

हरियाणा के कालेजों की पीयू से एफिलिएशन पर पंजाब के जवाब का इंतजार

हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा कि पीयू की हरियाणा के कुछ कॉलेजों को जोड़ने के प्रस्ताव पर क्या कार्रवाई की गई।

Lalit Kumar | Last Modified - Jan 16, 2018, 05:45 PM IST

हरियाणा के कालेजों की पीयू से एफिलिएशन पर पंजाब के जवाब का इंतजार

चंडीगढ़। बढ़ते आर्थिक बोझ के चलते पंजाब यूनिवर्सिटी (पीयू) बंद होने के वाइस चांसलर (वीसी) के बयान पर हाईकोर्ट द्वारा स्वयं संज्ञान लेने के मामले में मंगलवार को हरियाणा के कालेजों से पीयू की एफिलिएशन पर पंजाब सरकार की तरफ से समय दिए जाने की मांग की गई। इस पर हाईकोर्ट ने सात फरवरी के लिए मामले पर सुनवाई स्थगित कर दी।



हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा कि पीयू की हरियाणा के कुछ कॉलेजों को जोड़ने के प्रस्ताव पर क्या कार्रवाई की गई। इस पर केंद्र की तरफ से एडीशनल सोलिस्टर जनरल सत्यपाल जैन ने कहा कि पंजाब व मानव संसाधन मंत्रालय से इस पर ओपिनियन मांगी है। मंत्रालय ने ओपिनियन दे दी है जबकि पंजाब के जवाब का इंतजार किया जा रहा है।

पंजाब यूनिवर्सिटी (पीयू) के वाइस चांसलर प्रो. अरुण कुमार ग्रोवर के सीनेट में दिए बयान पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा स्वयं संज्ञान लिया है। सीनेट ने पीयू का 502.11 करोड़ का रिवाइज्ड बजट पास कर दिया। पीयू प्रशासन केंद्र सरकार से इस साल के 277 करोड़ के घाटे को पूरा करने के लिए रिवाइज्ड बजट में ये पैसा मांगा। पीयू सीनेट में रिवाइज्ड बजट पास करने के साथ ही वाइस चांसलर प्रो. अरुण कुमार ग्रोवर बोले कि अगर केंद्र से ये रिवाइज्ड बजट नहीं मिला तो पीयू बंद हो जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: hariyaanaa ke kalejon ki piyu se efiliyeshn par pnjaab ke jawab ka intjaar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×