--Advertisement--

सीएच-०१बीक्यू के बचे हुए १५० में से बिके सिर्फ ६८ नंबर, इनकम आरएलए को हुई १४.६९ लाख रुपए की

सीएच-०१बीक्यू के बचे हुए १५० में से बिके सिर्फ ६८ नंबर, इनकम आरएलए को हुई १४.६९ लाख रुपए की

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 12:14 PM IST

चंडीगढ़। रजिस्ट्रिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी(आरएलए) यूटी चंडीगढ़ की तरफ से सीएच-01बीक्यू सीरीज के बचे हुए 150 फेंसी नंबरों की ऑक्शन पूरी हो गई। इस बचे हुए नंबरों में से सिर्फ 68 नंबर ही दोबारा करवाई गई ऑक्शन में बिक सके।

इनसे आरएलए को 14.69 लाख रुपए की कमाई हुई है जबकि पहले इसी सीरीज के जो नंबर बिके थे उससे करीब 58 लाख रुपए की कमाई आरएलए को हुई थी। इनमें से किसी भी नंबर के लिए एक लाख रुपए तक भी बोली नहीं पहुंची। सीरीज के 0101 के लिए सबसे ज्यादा 75 हजार रुपए की बोली लगी, 0777 नंबर 72 हजार रुपए में बिका, 0020 नंबर 57 हजार रुपए में बिका और 2222 के लिए 51 हजार रुपए की बोली लगी।


हर दो महीनों के बाद नए नंबरों की सीरीज के फेंसी नंबरों की ऑक्शन आरएलए करवाता है। करीब 300 से ज्यादा इस तरह के नंबर बेच कर आरएलए को इससे करीब 80 से 85 लाख रुपए की कमाई होती है।


इसका ये भी मतलब कि हर दो महीनों में यूटी चंडीगढ़ में 10 हजार नए व्हीकल्स रजिस्टर्ड होते हैं।
लोगों को सुविधा हो इसलिए इसी महीने डीलर्स के पास ही गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन को लेकर भी काम शुरु हो गया है।
फिलहाल इसमें चार डीलर्स के पास से रजिस्ट्रेशन शुरु कर दिया गया है जबकि बाकियों को भी एक महीने के अंदर इस सिस्टम से जोड़ा जाएगा।