--Advertisement--

यहां साई बाबा खुद ग्रहण करते हैं भोजन, भक्तों के सवालों क लिखित में देते हैं जवाब

यहां साई बाबा खुद ग्रहण करते हैं भोजन, भक्तों के सवालों क लिखित में देते हैं जवाब

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 04:58 PM IST
मंदिर के अंदर स्थापित मूर्तिय मंदिर के अंदर स्थापित मूर्तिय

कांगड़ा। सांई बाबा के चमत्कारों के बारे में तो आपने सुना ही होगा। देव भूमि हिमाचल प्रदेश जहां रहस्यों से भरी पड़ी है, वहीं यहां कांगड़ा के लंज में ऐसा स्थान है जहां पर सांई बाबा के मंदिर में किसी भी तरह का चढ़ा नहीं चढ़ता है। इस मंदिर में डायरी में लोग सवाल लिखकर देते हैं और सांई बाबा भी अपने भक्तों को कुछ समय बाद उसी डायरी में उनके प्रश्नों के उत्तर देते हैं। आज के आधुनिकता के दौर में इस बात पर यकीन करना मुश्किल है लेकिन यह हकीकत है। पढ़ें पूरी खबर...

खुद प्रकट हुई हैं मंदिर में मूर्तियां...


ऐसी मान्यता है कि यहां सांई बाबा की मूर्तियां खुद प्रकट हुई थीं। यह मंदिर गांव के एक घर के साथ ही बना है। गुप्ता परिवार इस मंदिर की देख-रेख करता है। सबसे बड़ी बात कि आज के समय में जहां मंदिरों में प्रतिदिन हजारों लाखों का चढ़ावा चढ़ता है, वहीं इस मंदिर में किसी तरह का प्रसाद या चढ़ावा नहीं चढ़ाया जाता। सूचना पट्ट पर बाकायदा इस संबंध में लिखा है। सीमा गुप्ता जोकि साई मंदिर की देख-रेख करती हैं, के मुताबिक 2007 में यहां पर साई बाबा की मूर्तियां और 8 ज्योतिर्लिंग प्रकट हुए थे, तभी से हम साई बाबा की सेवा में जुट गए हैं।

मंदिर की देख-रेख कर रहे विनोद गुप्ता का दावा है कि एक डायरी में सवाल लिखकर श्रद्धालु दे देते हैं, फिर कुछ समय बाद खुद सांई बाबा लिखित में जवाब दे देते हैं। उनका यह भी दावा है कि यहां पर बाबा साक्षात रहते हैं और खाने-पीने की चीजों को भी ग्रहण करते हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज