--Advertisement--

ये है देश का मान बढ़ाने वाली १०२ सालों की एथलीट, मास्टर्स गेम्स में फिर लगाएंगी दौड़

ये है देश का मान बढ़ाने वाली १०२ सालों की एथलीट, मास्टर्स गेम्स में फिर लगाएंगी दौड़

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 11:35 AM IST
कार्यक्रम में कलाकारों के साथ कार्यक्रम में कलाकारों के साथ

मोहाली। विदेश की धरती पर अपनी प्रतिभा, लगन और दिलेरी से विदेशियों को धूल चटाने वाली देश की 102 वर्षीय एथलीट मान कौर सितंबर माह में स्पेन में होने वाली मास्टर्स गेम्स में हिस्सा लेने के लिए तैयारी में जुट गई हैं। अपने 80 वर्षीय बेटे गुरदेव सिंह के साथ रोजाना प्रैक्टिस करने वाली मान कौर से रविवार को dainikbhaskar.com की खास बातचीत हुई। पढ़ें पूरी खबर...

घर में बना खाना खाती है और रोजाना करती हैं प्रैक्टिस ...

वह मोहाली वीआर में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पहुंची थी। जहां उन्होंने डांस भी किया। सादगी से परिपूर्ण मान कौर से जब यह पूछा गया कि इतनी उम्र में किस तरह से वे अपने आपको को स्वस्थ रखती है तो उनका कहना था कि वे पूरी तरह से घर में बना खाना खाती है और रोजाना प्रैक्टिस के लिए ग्राउंड में जाती हैं। मान कौर ने बताया कि पुराने जमाने में एक परिवार पूरी तरह से मिलकर रहता था जिससे सबको सहायता मिलती थी। आज लोग अकेले होकर रह गए हैं जिस कारण वे अपने आप को ठीक नहीं रख पाते। मान कौर ने चंडीगढ़ में नेशनल टूर्नामेंट में 93 उम्र में दौड़ना शुरू किया था जहां 100 और 200 मीटर में गोल्ड मैडल जीते। उसके बाद फिर उन्होंने पीछे नहीं देखा और आज तक विदेश में जहां भी गई है वे मैडल जीत कर ही वापस आई हैं। दुनिया भर में हुए मास्टर्स गेम्स में अपनी आयु वर्ग में सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाली मान कौर ने अभी तक 20 से ज्यादा मैडल अपने नाम किए है और कई इनमें से गोल्ड मैडल भी है।

सरकारी सहायता कोई नहीं...
देश के लिए इस उम्र में विदेशों में मैडल जीतने वाली मान कौर से जब यह पूछा गया कि सरकार की ओर से किसी तरह की कोई सहायता मिलती है तो इस पर वे मायूस हो गई और कहा कि अभी तक तो किसी सरकार ने कोई सहायता की नहीं और विदेशों में वे अपने खर्च पर ही अपने बेटे के साथ जाती है। गुरदेव सिंह बताते है कि वे पीयू पटियाला में एक कमरे में रह रहे है।

बेटे को प्रैक्टिस करते देखा तो शुरू की दौड़...


एथलीट मान कौर बताती है कि बेटा गुरदेव यूनिवर्सिटी में प्रैक्टिस किया करता था जिसे देख कर 93 की उम्र में दौड़ना शुरू किया। बेटे ने भी अपनी मां को दौड़ के लिए प्रेरित किया। अमेरिका में मान कौर ने 100 व 200 मीटर दौड़ में गोल्ड मैडल जीत कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाए है।

मान कौर की फिटनेस का राज...


मान कौर बताती है कि उनकी फिटनेस का राज घर का बनाया खाना है। वे बताती है कि वे घर में गेहूं को भिगोकर रख देते है और जब गेहूं के दाने अंकुरित हो जाते है तो उसे पीस कर रोटियां बना कर खाते है। रोजाना सुबह केफर का एक गिलास और फ्रूट खाती है। 11.00 बजे गेहूं की रोटी खाते है। दोपहर के 1 बजे बीट का जूस और उसके बाद सोया मिल्क पीते है। मान कौर बताती है कि ग्राउंड में वे 11.00 बजे आकर 45 मिनट तक दौड़ लगाते है।

आगे की स्लाइड्स भी देखें