Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» The Story About Kalianwala Khu

इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos

पंजाब के चर्चित कालिया वाला खूह की सफाई के दौरान एक बार फिर कई हैरान करने वाली चीजें निकली हैं।

vishal sharma | Last Modified - Jan 28, 2018, 11:53 AM IST

  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    कुएं से नर कंकाल निकलने के बाद देखने उमड़ी भीड़।

    अजनाला. पंजाब के चर्चित कालिया वाला खूह (कुएं) की सफाई के दौरान एक बार फिर कई हैरान करने वाली चीजें निकली हैं। अमृतसर से 30 किमी दूर अजनाला गांव के इस ऐतिहासिक कुएं में करीब 157 साल पहले 282 भारतीय सैनिकों को अंग्रेजों ने जिंदा दफना दिया था। ये सैनिक लाहौर में ब्रिटिश शासन के खिलाफ बगावत कर दिल्ली की ओर बढ़ रहे थे। कुछ दिन पहले ही सिख श्रद्धालुओं ने 'कालिया वाला खूह' नामक इस कुएं की खुदाई कर अवशेषों को निकाला था। बाद में इस कुएं को 'शहीदोंवाला कुआं' कहा जाने लगा था।


    - 26 जनवरी शुक्रवार को कालिया वाला खूह यादगारी फाउंडेशन कमेटी ने यहां सफाई कराई तो कई पुरातत्व चीजें यहां नजर आई। इसके बाद इन चीजों को देखने के लिए लोगों की यहां लाइन लग गई। यहां खुदाई में पानी निकालने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली चीजें, मटके, नरकंकाल, खोपड़ियां आदि मिले हैं।


    1857 में सैनिकों ने की थी बगावत

    - 500 के करीब सैनिक लाहौर से दिल्ली के लिए निकले थे।
    - 218 निहत्थे भारतीय सैनिकों को अजनाला के पास दादिया गांव में मारा गया था।
    - 282 सैनिकों को अजनाला के एक कुएं में जिंदा दफन कर दिया था।

    2 अंग्रेज सैनिक अफसरों की हत्या कर शुरू की थी बगावत

    - 80 खोपड़ियों और नरकंकाल के अलावा सिक्के और मेडल भी मिले थे खुदाई में
    - 26वें बंगाल नेटिव इनफेंट्री के थे ये सभी जवान।

    नरसंहार की अंग्रेजों ने बनाई थी योजना

    अगस्त 1857 में अमृतसर के तत्कालीन डिप्टी कमिश्नर फ्रेडरिक हैनरी कूपर और कर्नल जेम्स जॉर्ज ने इस नरसंहार की योजना बनाई थी। कूपर ने अपनी पुस्तक "द क्राइसिस ऑफ पंजाब" में भी इस घटना का उल्लेख किया है। नरसंहार में मारे गए क्रान्तिकारी अंग्रेजों की बंगाल नेटिव इन्फेंट्री से संबंद्ध थे, जिन्होंने बगावत कर दी थी। इनमें से अंग्रेजी सेनाओं ने 150 को गोली मार दी, जबकि 283 सिपाहियों को रस्सियों से बांध कर अजनाला लाया गया और इस कुएं में फेंक दिया गया था।

  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    खुदाई के दौरान कई कंकाल पहले भी निकाले जा चुके हैं। शुक्रवार को सफाई के दौरान इस तरह हड्डियों का ढेर लग गया।
  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    'कालिया वाला खूह' से करीब एक ट्राली हडिड्यां निकाली गईं।
  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    खुदाई में इस तरह की कई खोपड़ी निकली हैं।
  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    कुएं में इस तरह एक के उपर एक मिले कंकाल।
  • इस कुएं से निकल रहे हैं कंकाल, इकट्ठा कर ले जाई जा रही हैं हड्डियां, देखें Photos
    +5और स्लाइड देखें
    कुएं में गहने और सिक्के भी मिले हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: The Story About Kalianwala Khu
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×