Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Travel Company Fined By Consumer Forum

ट्रैवल कंपनी की गलती के कारण कस्टमर का यूरोप टूर हुआ मिस, कंज्यूमर फोरम ने लगाया हर्जाना

कंपनी ने रिफंड के लिए इनकार कर दिया जिसके बाद विर्क ने कंज्यूमर फोरम में शिकायत दी

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 11, 2018, 08:02 PM IST

ट्रैवल कंपनी की गलती के कारण कस्टमर का यूरोप टूर हुआ मिस, कंज्यूमर फोरम ने लगाया हर्जाना

चंडीगढ़।ट्रैवल कंपनी की एक गलती के कारण कस्टमर का यूरोप टूर मिस हो गया। कंपनी की गलती के कारण पहले तो उनके वीजा पर गलत डेट मेंशन हो गई और फिर जब वीजा मिला तब तक उनकी फ्लाइट जा चुकी थी। कस्टमर ने कंज्यूमर फोरम में शिकायत दी। फोरम ने ट्रैवल कंपनी को टूर पैकेज की कॉस्ट वापस करने के साथ-साथ 25 हजार रुपए हर्जाना भी अदा करने को कहा गया है। फोरम ने अंबाला कैंट के मंदीप विर्क की शिकायत पर ये फैसला सुनाया।

एंबेसी में पब्लिक डीलिंग का काम बंद हो रखा था

विर्क ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्होंने थॉमस कुक कंपनी से यूरोपियन एक्स्ट्रा वेगेंजा टूर पैके लिया था जिसमें रोम, पेरिस, लंदन और यूरोप के छह देश शामिल थे। ये टूर उन्होंने अपने, पत्नी और बेटे के लिए लिया और इसके लिए उन्होंने कंपनी को 6 लाख 37 हजार 883 रुपए अदा किए। कंपनी ने उनका टूर बुक करवा दिया और उन्हें जानकारी दे दी। कंपनी ने बताया कि उन्हें 26 जून 2014 को नई दिल्ली से रवाना होना होगा। लेकिन कुछ दिनों बाद कंपनी ने उन्हें बताया कि गलती से उनके वीजा पर 27 जून की जगह 29 जून की तारीख लिखी गई जिसे वे एक या दो दिन में ठीक करवा देंगे। कंपनी ने कस्टमर को कहा कि वे 27 जून को दिल्ली पहुंचे और उनकी फ्लाइट 2.20 बजे रवाना होगी। कंपनी ने उन्हें सुबह उन्हें अपना वीजा और पासपोर्ट कलेक्ट करने के लिए इटली एंबेसी के दिल्ली ऑफिस पहुंचना होगा। वहां पहुंचकर उन्हें पता चला कि एंबेसी में पब्लिक डीलिंग का काम बंद हो रखा था। उन्होंने वहां पूछताछ की तो उन्हें वीएफएस ग्लोबल नेहरू प्लेस जाने को कहा गया। वहां उन्हें बताया कि उनका पासपोर्ट और वीजा उन्हें मिल जाएगा। उन्हें काफी देर इंतजार करवाया गया और फिर 3.30 बजे उन्हें वीजा और पासपोर्ट मिला जबकि ढाई बजे तो उनकी फ्लाइट निकल चुकी थी। उन्होंने कंपनी से रिफंड के लिए कहा, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया जिसके बाद विर्क ने कंपनी के खिलाफ कंज्यूमर फोरम में शिकायत दी।

फोरम में कंपनी ने जवाब दिया कि वीजा में गलत तारीख मेंशन होने से ये देरी हुई। इसके लिए वे नहीं बल्कि इटेलियन कॉन्स्यूलेट जिम्मेदार हैं और उन्हीं की गलती के कारण वीजा पर गलत तारीख लिखी गई। फोरम ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद कस्टमर की शिकायत को सही ठहराते हुए ट्रैवल कंपनी को 6 लाख 37 हजार 883 रुपए रिफंड करने, 25 हजार रुपए हर्जाना और 10 हजार रुपए मुकदमा खर्च अदा करने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×