--Advertisement--

खाली पोस्टों को भरने के लिए यूनियनें हुई इकट्ठी, 22 दिसंबर को उतरेंगे सड़कों पर

खाली पोस्टों को भरने के लिए यूनियनें हुई इकट्ठी, 22 दिसंबर को उतरेंगे सड़कों पर

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 12:11 PM IST

चंडीगढ़। कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ गवर्नमेंट एंड एमसी इंप्लाइज एंड वर्करज यूटी चंडीगढ़ 22 दिसंबर 2017 को सड़कों पर उतरकर प्रशासन के खिलाफ ही विरोध प्रदर्शन करने जा रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रशासन ने अपना वायदा पूरा नहीं किया, चंडीगढ़ प्रशासन के साथ 8 अगस्त 2017 को जो मीटिंग कोआर्डिनेशन कमेटी के के साथ कर्मियों की मांग पर हुई थी और बहुत सी मांगो पर सहमति बनी थी पर चंडीगढ़ के विभागों ने मांगो के ऊपर कोई कार्यवाही नहीं की। इसलिए धरने को कामयाब करने के लिए शनिवार सुबह ही अलग-अलग विभागों में गेट मीटिंग जनरल बॉडी मीटिंग की गई।


अश्वनी कुमार कन्वीनर ने कहा है कि चंडीगढ़ प्रशासन को जिन मांगो पर सहमति बनी है उन मांगों को तुरंत लागू करना चाहिए।

ये मांगे हैं जिनको लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे कर्मी...


1. कांट्रेक्ट कर्मियों के लिए सिक्योर पॉलिसी बनाई जाए तथा पंजाब सरकार द्वारा कांट्रेक्ट कर्मियों को रेगुलर करने के संबंध में बनाए गए एक्ट को चंडीगढ़ प्रशासन तुरंत लागू करें, गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के फैसले के अनुसार कम से कम 24000 कांट्रेक्ट कर्मियों को दिए जाए।
2. विभागों में खाली पड़ी पोस्टों से जल्द भरा जाए।
3. यूटी इंप्लाइज सेल्फ फाइनेंस हाउसिंग स्कीम 2008 के सफल उम्मीदवारों को मकान दिए जाए तथा रहते कर्मियों के लिए भी स्कीम बने।
4. ग्राम पंचायत में काम कर रहे सफाई कर्मचारियों को बेसिक पे और डीए दिया जाए।
5. सेंट्रल रूल सेंट्रल पे स्केल लागू किया
6. कांट्रेक्ट कर्मियों के लिए डीसी रेट 5 प्रतिशत बढ़ाया जाए और बस कंडक्टर की कैटेगरी फोर्थ क्लास से थर्ड क्लास में लाया जाए।