--Advertisement--

फाइनेंस मिनिस्टर को चंडीगढ़ से लैटर, जीएसटी पर एंटी प्रोफेटरिंग अथॉरिटी में नहीं हो रहा सिस्टम से काम

फाइनेंस मिनिस्टर को चंडीगढ़ से लैटर, जीएसटी पर एंटी प्रोफेटरिंग अथॉरिटी में नहीं हो रहा सिस्टम से काम

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 03:16 PM IST
Working with GST system not operating in Anti-Profiler Authority

चंडीगढ़। गुड्स एंड सर्विस टैक्स(जीएसटी) को लेकर गठित की गई एंटी प्रोफेटरिंग अथॉरिटी सही तरीके से काम नहीं कर रही है। इसको लेकर चंडीगढ़ के रेजिडेंट्स ने फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेतली को कंप्लेंट की गई है। फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेतली ही जीएसटी काउंसिल के चेयरमैन भी है।

दरअसल जीएसटी जब लागू हुआ और इसमें कई चीजों पर पहले के मुकाबले टैक्स कम हुए तो एक सेंटर लेवल पर ही एंटी प्रोफेटरिंग अथॉरिटी का गठन किया गया। इसका काम ये कि पब्लिक के साथ किसी तरह की धोखाधड़ी न हो। साथ ही जीएसटी में जो बेनीफिट टैक्स कम होने को लेकर पब्लिक को मिलने चाहिए वो दुकानदार या कंपनियां आगे पास ही न करे इस मकसद से एंटी प्रोफेटरिंग अथॉरिटी का गठन किया गया है।

इसी अथॉरिटी के तहत चंडीगढ़ में भी एक नोडल अफसर नियुक्त हुआ। लेकिन अब रेजिडेंट्स की तरफ से जब यहां पर कंप्लेंट की गई तो उस पर कोई कार्रवाई तो की नहीं गई उलटा लिखा गया गया कि तय फॉरमेट में ही शिकायत दें।

ये है मामला...

इस बारे में एडवोकेट अजय जग्गा ने लिखा है कि उन्होंने 30 नवंबर 2017 को कंप्लेंट की। ये जीएसटी चीफ कमिश्नर यूटी चंडीगढ़ को कंप्लेंट की गई। इस पर कोई कार्रवाई तो हुई नहीं लेकिन 10 जनवरी 2018 को रिप्लाई वहां से भेजी गई जिसमें नो प्रोसेसिंग को लेकर बताया गया कि कंप्लेंट को दोबारा रिक्वेस्ट डॉक्यूमेंट्स के साथ फाइल करें। जग्गा ने सवाल किया है जब शिकायत में बता दिया गया है कि कोई फर्म या एजेंसी पब्लिक के साथ जीएसटी को लेकर गड़बड़ कर रही है तो कार्रवाई होनी चाहिए।

X
Working with GST system not operating in Anti-Profiler Authority
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..