Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Advocate Son Found Dead In Car With Bullet

वकील के बेटे की बॉडी कार में मिली, माथे पर गोली और हाथ में थी रिवॉल्वर

वकील के बेटे की बॉडी कार में मिली, माथे पर गोली और हाथ में थी रिवॉल्वर

vikas sharma | Last Modified - Nov 10, 2017, 10:13 AM IST

पंचकूला. चंडीगढ़ डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के वकील सुनील भसीन का 21 साल का बेटा तनिष्क भसीन वीरवार को पंचकूला-मोरनी रोड पर बरवाला के पास अपनी कार में मृत मिला। तनिष्क के माथे पर बीचों-बीच गोली लगी थी और हाथ में रिवॉल्वर थी। आसपास के लोगों ने सुबह करीब 10 बजे पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने कार को अपने कब्जे में लिया और शव को सेक्टर-6 जनरल अस्पताल के मॉर्चरी में रखवाया।
शुक्रवार को अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा, ताकि मौत के कारणों का पता चल सके। आईओ वहीदा रहमान ने बताया कि मामला सुसाइड का है। घरवालों से पूछताछ में पता चला है कि उनका बेटा पिछले कुछ दिनों से डिप्रेशन में था। पंचकूला सेक्टर-4 में रहने वाला तनिष्क चंडीगढ़ एसडी कॉलेज में बीकॉम सेकेंड ईयर में पढ़ाई कर रहा था।

अंतिम कॉल कुक को की...

आईओने बताया कि मृतक से मिले मोबाइल की जांच से पता चला है कि उसने अंतिम कॉल अपने कुक को की थी। कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। मोबाइल डंप भी उठाया जा रहा है, ताकि घटना के दिन वहां से गुजरने वाले लोगों से पूछताछ की जा सके। मोरनी रोड पर पड़ने वाले होटलों की भी चेकिंग की जा रही है कि वह कहीं ठहरा है या नहीं।

दाहिने हाथ पर लाल निशान...

पुलिस के छानबीन में कुछ चौंका देने वाले तथ्य भी हाथ लगे हैं। मृतक के दाहिने हाथ पर लाल निशान पड़े हुए हैं। हालांकि पुलिस मृतक के घरवालों उसके जानकारों से बात करने की कोशिश कर रही है ताकि असलियत का पता लगाया जा सके।

पुलिस को कार से माचिस की तिल्ली, डायरी, किताब, सिगरेट का डिब्बा रिवॉल्वर मिली। मृतक के पिता ने बताया कि कार में मिले सिगरेट जैसा फ्लेवर वह भी पीते हैं और बेटा नशा नहीं करता था। वह स्कूल से लेकर कॉलेज तक अपने बैच का टॉपर रहा है।

रिवॉल्वर कहां से आई, जांच कर रही पुलिस...

मृतक के पिता सुनील भसीन ने बताया कि बुधवार शाम करीब 6.30 बजे वे अपने जानकारों के साथ घर में बैठे थे। उसी समय बेटा बाहर जाने की बात कहकर निकल गया। गुरुवार सुबह जानकारी मिली कि उसने सुसाइड कर लिया है। सुनील भसीन ने कहा कि आज तक उनकी फैमिली में किसी ने रिवॉल्वर का लाइसेंस तक नहीं लिया तो तनिष्क के हाथ में रिवॉल्वर कैसे आई। बेटे को खर्चे के लिए ज्यादा से ज्यादा 1000-2000 रुपए दिया करता था और इतने में कोई रिवॉल्वर नहीं खरीद सकता। उन्होंने बेटे के सुसाइड करने से इनकार किया। मृतक की मां कुछ दिन पहले उसकी बहन के पास सिंगापुर गई थीं।

आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×