Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Haryana Cm Manohar Lal Khattar Replies To Arvind Kejariwal

सीएम केजरीवाल को सीएम खट्टर का जवाब, डियर आप पॉलिटिक्स न करें

सीएम केजरीवाल को सीएम खट्टर का जवाब, डियर आप पॉलिटिक्स न करें

vikas sharma | Last Modified - Nov 13, 2017, 03:22 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली के एयर पॉल्यूशन को लेकर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने अरविंद केजरीवाल को जवाबी लेटर भेजा है। इसमें लिखा है कि वो 13 से 14 नवंबर तक दिल्ली में हैं। इसके बाद चंडीगढ़ में रहेंगे। केजरीवाल जब चाहें अपनी सहूलियत के हिसाब से इस मुद्दे पर बात कर सकते हैं। बता दें 8 नवंबर को केजरीवाल ने लेटर भेजकर इस मुद्दे पर बातचीत के लिए हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्रियों से वक्त मांगा था। उन्होंने पंजाब और हरियाणा को पॉल्यूशन फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया था। इस पर पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल को अजीब शख्स कहा था।

दिल्ली सरकार की सुस्ती से बढ़ी दिक्कत

- सीएम खट्टर ने अपने लेटर में लिखा है कि स्मॉग की परेशानी से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने तो कई कदम उठाए हैं, लेकिन दिल्ली सरकार के सुस्त रवैए से यह दिक्कत ज्यादा बढ़ी है।
- खट्टर ने कहा कि एयर क्लालिटी को कोई अकेला शख्स, ऑर्गनाइजेशन या सरकार ठीक नहीं कर सकती। इसके लिए एकजुट होकर कोशिश करनी होगी।

आपके लेटर में वह सोच नजर नहीं आई

- खट्टर ने आगे लिखा है, "एयर क्लालिटी को कोई अकेला शख्स, ऑर्गनाइजेशन या सरकार ठीक नहीं कर सकती। इसके लिए एकजुट होकर कोशिश करनी होगी। इसके लिए मजबूत सिस्टम की जरूरत है और इसका आधार माइंडसेट है। यह बदकिस्मती है कि आपके लेटर में ऐसे माइंडसेट का कोई संकेत नहीं मिलता है।"

राजनीतिक फायदा लेने का आरोप

- खट्टर ने लेटर में आगे लिखा है कि खेत में पराली जलाने की हरियाणा-पंजाब के किसानों की मजबूरी का जिक्र करना, राजनीतिक फायदा लेने की तरफ इशारा करता है।

दिल्ली में 40 हजार किसानों के लिए आपने क्या किया?

- खट्टर ने लेटर में लिखा है कि दिल्ली में करीब 40 हजार परिवार 40 हजार एकड़ जमीन पर खेती करते हैं। इन परिवारों को खेत में पराली जलाने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने क्या कदम उठाए। पहले यह बताया जाना चाहिए।
- उन्होंने लिखा कि यूनियन एग्रिकल्चर मिनिस्ट्री ने जानकारी दी है कि पराली के सही निपटारे के लिए पंजाब सरकार को 97.58 करोड़ रुपए दिए गए थे, लेकिन इसमें से एक रुपया भी खर्च नहीं किया गया। जबकि हरियाणा ने 45 करोड़ रुपए में से 39 करोड़ रुपए खर्च किए। सैटेलाइट से भी पता चला है कि हरियाणा में 2014 से अब तक पराली जलाने में कमी आई है। इसके अलावा सरकार ने हरियाणा को केरोसिन फ्री राज्य बनाने के साथ ही खुले में शौच से मुक्त किया है। एकजुट कोशिशों से इस परेशानी का भी हल निकलेगा।

अमरिंदर ने क्या कहा था?

- गुरुवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था, "पॉल्यूशन को रोकने के लिए केजरीवाल ने कुछ भी नहीं किया। यह बहुत बड़ा मुद्दा है। पॉल्यूशन बढ़ाने के लिए सभी राज्य जिम्मेदार हैं। अरविंद केजरीवाल बहुत ही अजीब शख्स हैं। वह स्थिति को समझे बिना ही उस पर राय दे देते हैं।"
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×