Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» People In Himachal Pradesh Are Contesting Polls: PM Modi

चंडीगढ़।

चंडीगढ़।

suraj thakur | Last Modified - Nov 05, 2017, 11:44 AM IST

चंडीगढ़।हिमाचल में बर्फबारी से पहले चुनावी मौसम काफी गर्म हो गया है। परिणाम जो भी निकलें पर इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि प्रदेश में आज रविवार को हुई पीएम मोदी की रैलियों में मोदी को सुनने के लिए लोागे में खासा क्रेज रहा। लोग हजारों की संख्या में मोदी को सुनने पहुंचे थे। हिमाचल में चुनाव प्रचार में ऊना, पालमपुर और कुल्लू में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर भ्रष्टाचार को लेकर तीखे वार किए। उन्होंने कहा कि मैं देश से भ्रष्टाचार की पूरी तरह सफाई करके ही दम लूंगा। पढ़ें पूरी खबर...
अब दिल्ली से एक रुपया भी निकलेगा, तो 100 में 100 पैसा गरीब जनता की जेब में जाएगा। जिस पर कोई पंजा नहीं मार सकेगा। उन्होने कहा कि हिमाचल में बीजेपी नहीं जनता चुनाव लड़ रही है।
मोदी यहां इंदिरा ग्राउंड में भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि वो कौन सा जादूगर था, जो रुपये को घिस-घिस कर 15 पैसे कर देता था।
100 पैसे में से 85 पैसे किसकी जेब में जाते थे। उन्होंने कहा कि जब डॉक्टर (राजीव गांधी) को मर्ज पता थी, तो उसे दूर नहीं किया।
लेकिन तब कांग्रेस के चाटूकार राजीव की बातों पर तालियां बजाते थे। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश में सर्वाधिक कांग्रेस का शासन रहा है।
उन्होंने कहा कि देश की जनता अब सरकारों का तुलनात्मक अध्ययन कर रही है। उन्होंने कहा कि काम करने वाली सरकार लोगों के जीवन में बदलाव लाती है।
मोदी बोले कि हमने ऐसा करके दिखाया है। हम रोज नया करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार गैस के लिए सब्सिडी देती हैं।
हमने पता करवाया करोड़ों नाम ऐसे मिले जिनका जन्म ही नहीं हुआ है।
बिचौलिए पैसे खा जाते हैं...
दिल्ली से पैसे आते हैं और उसे बीच में बिचौलिए खाते हैं। उन्होंने कहा कि हमने गैस सब्सिडी को आधार के साथ जोड़ा है। जिससे देश के करोड़ों रुपये चोरी होने से बच गए। मोदी ने कहा कि जिस 57 हजार करोड़ रुपये को बिचौलिये खा जाते थे, उसे हमने बंद किया है। उन्होंने कहा कि ये पैसा जिनकी जेब में जाता था, वो हल्ला कर रहे हैं। क्योंकि ऐसे लोगों की अब दुकान बंद हो गई है। मोदी बोले कि पहले की सरकारें बेईमानों के खिलाफ कार्रवाई करने से डरती थी। उन्होंने कहा कि बेनामी संपत्ति की राजीव गांधी के समय में बड़ी चर्चा थी, जो पुरानी बीमारी है। बेनामी संपत्ति बारे कानून पारित हो गया।
बेनामी संपत्ति ठंडे बस्ते में...
लेकिन कांग्रेस ने 30 साल तक बेनामी संपत्ति के कानून को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। क्योंकि इन्हें डर था, खुद के फंसने का। अब हमने बेनामी संपत्ति का कानून बनाया है। जिससे इन्हें परेशानी हो रही है। उन्होंने कहा कि बड़े नेताओं और बाबूओं के पास बेनामी संपत्ति है। किसी ने ड्राइवर के नाम पर संपत्ति खरीदी है। किसी ने बर्तन मांजने वाली के नाम पर फ्लैट ले रखा है। किसी ने दूर के रिश्तेदार के नाम पर कुछ बनाकर रखा है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को पता है कि अब मोदी का कैमरा घूम रहा है और सारी चीजें पकड़ में आ रही हैं। जिससे ऐसे लोगों ने अभी चिल्लाना शुरू कर दिया है।
आगे की स्लाइड् में देखें फोटोज
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×