Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Rate List In Mandis After The Complainant Of The Advocate

एडवोकेट की कंप्लेंट के बाद अपनी मंडियों में लगी रेट लिस्ट, लोगों से नहीं होगी मनमर्जी से वसूली

एडवोकेट की कंप्लेंट के बाद अपनी मंडियों में लगी रेट लिस्ट, लोगों से नहीं होगी मनमर्जी से वसूली

yograj sharma | Last Modified - Nov 05, 2017, 02:58 PM IST

चंडीगढ़।चंडीगढ़ में हर रोज अलग अलग सेक्टरों में अपनी मंडी लगती है। पंजाब मंडी बोर्ड की तरफ से लोगों को उनके घर के पास ही सब्जियां और फ्रूट्स मिल सके इस मकसद से ये मंडियां लगाई जाती है। लेकिन इन मंडियों में मनमर्जी से लूट चल रही थी जिसमें लोगों से मनमाने रेट सब्जियों के वसूले जा रहे थे।
-इसको लेकर शिकायत भी एडवाइजर और डिप्टी कमिश्नर को की गई थी।
-इसमें चंडीगढ़ के ही एक एडवोकेट ने लिखा था कि इन मंडियों में एक ही चीज के अलग अलग रेट्स लगाकर लोगों से मनमाने रेट वसूले जा रहे हैं।
-लेकिन अब शिकायत मिलने के बाद से ही इन मंडियों के आने जाने के रास्तों में डिस्पले कर रेट लिस्ट उस दिन की सब्जियों और फ्रूट्स को लेकर लगाई जा रही है।
-इससे फायदा ये कि जो भी मंडी में खरीददारी करने के लिए जाता है उनको सही रेट पता रहेंगे जिससे मनमाने रेट उनसे अंदर रेहड़ी फड़ी लगाकर सब्जियां और फ्रूट्स बेचने वाले नहीं वसूल पाएंगे।
किसान सीधे बेच सकें सब्जियां इसलिए किया गया था शुरु...

- इन मंडियों को इस कान्सेप्ट से शुरु किया गया था कि किसान सीधे अपनी सब्जियां बेच सकें।
- किसान अपनी सब्जी लेकर सीधे इन मंडियों में आ सकें। जिससे मिडल मैन हटे और लोगों को भी सस्ते में सब्जियां मिल सकें।
- इस तरह की मंडियों में हर रोज एवरेज 2 से 3 हजार लोग खरीददारी करने के लिए पहुंचते हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×