Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Rs 4 Lakh Robbery Cracked, Two Held In Ludhiana

लड़की के दोस्त ने ही की थी लूट, फबी पर करता था चैट, रहती थी पूरी डिटेल

लड़की के दोस्त ने ही की थी लूट, फबी पर करता था चैट, रहती थी पूरी डिटेल

vikas sharma | Last Modified - Nov 14, 2017, 12:08 PM IST

लुधियाना. जीटीरोड नूरवाला रोड स्थित कालड़ा ट्रैवल एजेंसी और मनी एक्सचेंजर में लूट की वारदात ऑफिस में काम करने वाली युवती के दोस्त ने ही की थी। वारदात को अंजाम देने के लिए युवक ने अपने एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर प्लानिंग की। वह लूटी रकम लेकर दुबई जाना चाहता था। पुलिस को गुमराह करने के लिए युवक ने अपना स्कूटर भी बदला था। मगर थाना बस्ती जोधेवाल पुलिस ने आरोपी और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों से 3 लाख 84 हजार कैश और स्कूटर भी बरामद कर लिया।

आरोपियों की पहचान नंदा कॉलोनी काकोवाल रोड का रहने वाला सोनू और शिमला कॉलोनी का रहने वाला दशित शर्मा है। थाना बस्ती जोधेवाल पुलिस ने लूट के आरोप में पुलिस ने ऑफिस में काम करने वाली सारिणी शर्मा के बयान पर मामला दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेशकर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

चैट पर होती थी लड़की से अक्सर बातचीत...

एडीसीपी राजवीर सिंह ने बताया कि शुरुआती जांच में ही पुलिस को शक था कि लूट की वारदात को अंजाम देने वाले युवक का ऑफिस में अक्सर आना-जाना रहा। जांच में पता चला कि आरोपी सोनू की बहन दुबई में रहती है। वह कई बार वहां जा भी चुका है। उसकी बहन इस ऑफिस के जरिए ही उसे पैसे भेजती थी। यहां आने-जाने के कारण सोनू की पहचान ऑफिस में काम करने वाली युवती से हो गई और वह अक्सर उससे सोशल मीडिया पर चैट करता था।
आपसी जान-पहचान होने के कारण सोनू को पता लग जाता था कि ऑफिस में कैश पड़ा है या नहीं। शनिवार को उसे पता चल गया था कि सारिणी का मालिक बाहर गया है। वह ऑफिस में अकेली है और कैश भी है। इस पर उसने फोन कर सारिणी को बताया कि उसकी बहन ने पैसे भेजे हैं और रकम लेने के लिए आ रहा है। मगर सारिणी ने लेट होने के कारण उसे रविवार सुबह आकर पेमेंट लेने के लिए कहा। सुबह आते ही उसने सोनू को पेमेंट के लिए फोन कर दिया, लेकिन कुछ देर के बाद ही वारदात हो गई।

लड़की को जानता था, इसलिए नहीं किए ज्यादा वार...

जांच के दौरान पता चला कि फोन करने के बाद भी सोनू पेमेंट नहीं लेने आया तो शक की सुई सोनू पर गई। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी चेक की गई। शक के आधार पर सोनू और उसके दोस्त को बुलाकर सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने सारी सच्चाई उगल दी। सोनू ने बताया कि उसने वारदात के लिए अपने दोस्त से प्लानिंग की। उसका दोस्त दशित सुंदर नगर फैक्ट्री में काम करता है। उसे कंपनी की तरफ से स्कूटर मिला है। प्लानिंग के अनुसार सुबह वह अपने दोस्त से मिला और उसके साथ स्कूटर बदला। फिर वारदात को अंजाम दिया। उसने पैसे दशित को दे दिए और उसने पैसे फैक्ट्री के कूलर में छुपा दिए। पूछताछ में सोनू ने बताया कि उसने वारदात के दौरान जानबूझकर सारिणी पर अधिक वार नहीं किए।

ट्रैवल एजेंट है मालिक...

वारदात के समय ऑफिस में सारीणी नामक लड़की मौजूद थी, जिसने करीब सवा नौ बजे दफ्तर खोला ही था कि काले रंग के कपड़े पहने एक नकाबपोश लुटेरा दफ्तर में घुस आया और लड़की को चाकू दिखाकर ऑफिस में रखा चार लाख पांच हजार रुपए का कैश लूटकर फरार हो गया। कालडा ट्रैवल एजेंट के नाम से यह ऑफिस है और वारदात के समय मालिक बाहर गया हुआ था। जैसे ही लूट की वारदात की खबर उसे दी गई वह लौट आया। - जिम्मी, रिश्तेदार, कालडा ट्रैवल एजेंट


आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×