Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Spains Eyes On Spains Tennis Stars

चंडीगढ़ के टेनिस स्टार्स पर रहेगी स्पेन की नजरें

चंडीगढ़ के टेनिस स्टार्स पर रहेगी स्पेन की नजरें

gaurav marwaha | Last Modified - Nov 25, 2017, 08:10 PM IST

चंडीगढ़।सिटी के बेस्ट टेनिस प्लेयर्स पर अब सीएलटीए के साथ साथ स्पेन की भी नजरें होंगी। चार साल पहले मेड्रिड टेनिस फाउंडेशन के साथ एमओयू साइन करने वाली सीएलटीए ने इंटरनेशनल कोच गिलेरमो एलकेड को अपना इंटरनेशनल डायरेक्टर ऑफ डेवलपमेंट बनाया है। वे चंडीगढ़ में आकर यंगस्टर्स को टिप्स भी देंगे और साथ ही यहां के प्लेयर्स और कोचेज की मॉनीटरिंग भी करेंगे। उनकी सलाह से ही यहां के कोचेज प्लेयर्स के लिए काम करेंगे और हर टूर्नामेंट जीतने के बाद प्लेयर के परफॉर्मेंस को गिलेरमो स्टडी करेंगे।


सीएलटीए के पैट्रन राजन कश्यप ने बताया कि गिलेरमो एलकेड अभी सिर्फ 31 साल के हैं और वे वर्ल्ड नंबर-26 फर्नांडो वर्डास्को के पर्सनल कोच भी हैं। इसके अलावा उनकी अपनी भी एकेडमी है। इतने व्यस्त समय के बाद भी वे साल में तीन बार चंडीगढ़ आएंगे। 10-10 दिनों के कैंप में यंगस्टर्स और कोचेज को समय देंगे। उन्हें सीएलटीए के प्रोग्राम ने काफी प्रभावित किया है और इसी के कारण उन्हें इंटरनेशनल डायरेक्टर ऑफ डेवलपमेंट बनाया गया है। इन कैंप में सीएलटीए के ट्रेनिज तो हिस्सा लेंगे ही साथ में देश भर के टॉप प्लेयर्स को भी इसमें हिस्सा लेने की अनुमति होगी। ये चंडीगढ़ के टेनिस कल्चर को इंटरनेशनल लेवल देगा और यहां के प्लेयर्स भी वर्ल्ड क्लास कोचेज से अपने कोर्ट पर ट्रेनिंग ले सकेंगे।

चार्ट प्रोग्राम ने किया गिलेरमो एलकेड को इंर्पेस:
इंटरनेशनल कोच गिलेरमो एलकेड ने साफ शब्दों में कहा कि वे दुनिया भर में ट्रैवल कर चुके हैं। हर जगह पर गेम सिखाना एक बिजनेस है और इसके लिए भारी भरकम पैसे देने होते हैं। लेकिन यहां ऐसा नहीं है। सीएलटीए के चार्ट प्रोग्राम से मैं काफी इंर्पेस हुआ। रुरल बेल्ट के इन बच्चों को टेनिस सिखाने का जाे काम यहां सीएलटीए ने किया है वो तारीफ के काबिल है। यहां के बच्चों में टेनिस सीखने का जुनून है और वे काफी अनुशासित भी हैं। समय पर खेलना और समय पर बाकी चीजें करना ही एक अच्छे प्लेयर की पहचान है। मैंने यहां पर ये देखा है। इसी कारण मैंने सीएलटीए के साथ जुड़ने का फैसला किया।

प्लेयर्स कल्चर एक्सचेंज करना हमारा मकसद:

सीएलटीए के इंटरनेशनल एडवाइजर आैर पूर्व टेनिस प्लेयर जेवियर सेन्सेरा ही गिलेरमो एलकेड को सीएलटीए लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि हमारा मकसद यहां के बच्चों को स्पेन का और भारत का टेनिस कल्चर दिखाना है। वे अपने टेनिस कल्चर काे एक्सचेंज करेंगे तो यकीनन उनकी गेम में सुधार आएगा। उन्होंने कहा कि सीएलटीए ट्रेनी मई में स्पेन का दौरा करेंगे जबकि स्पेनिश प्लेयर जुलाई में चंडीगढ़ में टेनिस के टिप्स लेंगे। इन दौरों पर एक एक कोच भी टीम के साथ सीखने के लिए ट्रैवल करेगा।

सीएलटीए स्टार्स जीत रहे हैं इंटरनेशनल टाइटल:
स्पेनिश कोच ने भारतीय प्लेयर्स की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि यहां के प्लेयर्स इंटरनेशनल सर्किट पर काफी अच्छा कर रहे हैं। कोचिंग में दोनों देशों की ज्यादा फर्क नहीं है और एक ही तरह से कोच काम करत हैं। सीएलटीए के ट्रेनी रिशभ शारदा ने हालही में तीन आईटीएफ टाइटल जीते हैं जबकि काव्या साहनी व प्रिंकल सिंह ने भी खिताब जीते हैं। यहां के ही ट्रेनी जो चार्ट ट्रेनी का हिस्सा हैं उन्होंने भारतीय अंडर-14 टीम में अपनी जगह बनाई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×