Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Three Indian Youths Made Hostage In Saudi Arabia

सऊदी अरब ट्राला चलाने गए युवकों को बंधक बनाया, ऊंट और बकरियां चराने में लगाया

सऊदी अरब ट्राला चलाने गए युवकों को बंधक बनाया, ऊंट और बकरियां चराने में लगाया

suraj thakur | Last Modified - Nov 25, 2017, 02:57 PM IST

रोपड़। रोपड़ जिले के एक एजेंट ने नूरपुरबेदी के तीन युवाओं को सऊदी अरब की कंपनी में ट्राला चालक की नौकरी दिलाने का भरोसा देकर वहां भेज दिया लेकिन इन युवकों को वहां किसी पशु बाड़े में बंधुआ मजदूर बनाकर उन्हें ऊंट व बकरियां चराने के काम में लगा दिया। तीनों युवक मौका पाकर वहां से भाग निकले और जंगल में जा छुपे हैं।परिवार को भेजे वीडियो, सोशल मीडिया में भी हुए वॉयरल...

अब इन्होंने अपने परिवार को वीडियो भेजकर अपनी स्थिति बताई है। जिला पुलिस प्रमुख से युवकों के परिजनों बीते शुक्रवार को गुहार लगाई है कि एजेंट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए उन्हें इंसाफ दिलाया जाए। इस बीच युवकों के भेजे गए वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वॉयरल हो रहे हैं।

युवकों को ट्राला चलाने की नौकरी के लिए भेजा था एजेंट ने सउदी ...

ये पता नहीं चल रहा है कि युवक सऊदी अरब में किस जगह फंसे हैं। सऊदी अरब में फंसे अजय सिंह, जसवीर सिंह तथा सुरेश कुमार नूरपुरबेदी के गांव मवा आबादी बहातियां के हैं। इनके पिता सगली राम, सोमनाथ व चनन सिंह ने एसएसपी को शिकायत दी कि रोपड़ जिले के एजेंट ने उनके बेटों को एक कंपनी में बतौर ट्राला चालक बनाकर भेजने का सौदा किया था।

पशु बाड़े से भागे जंगल में फंसे...

एजेंट को पूरी पेमेंट की थी। एजेंट ने भरोसा दिलाया था कि एयरपोर्ट से कंपनी का प्रतिनिधि इन तीनों को लेने पहुंचेगा और वही इन तीनों को काम पर भी लगाएगा। उन्होंने बताया कि एजेंट ने पिछले सप्ताह 17 नवंबर को उनके बेटों को सऊदी अरब भेजा था। वहां वादे के अनुसार एयरपोर्ट पर एक व्यक्ति तीनों को लेने भी पहुंचा था लेकिन वह इन तीनों को ट्राला चलाने के काम में लगाने की बजाए जंगल में किसी पशु बाड़ पर ले जाकर छोड़ आया जहां उनसे जबरदस्ती बंधुआ मजदूर की तरह काम करवाया जा रहा है। तीनों युवक वहां से भाग निकले हैं।


वीडियो में ये दिया संदेश...

सऊदी अरब से भेजी वीडियो में तीनों युवाओं ने आपबीती बताते हुए बताया कि एजेंट ने उन्हें नवाब सलीम मुहम्मद अलगलतानी नामक कंपनी में लगाने का विश्वास दिलाया था लेकिन यहां पहुंचते ही जो आदमी उन्हें एयरपोर्ट से लेकर गया, उसने उन्हें जंगल में किसी पशु बाड़े पर छोड़ दिया जहां बाड़े का मालिक उनसे बंधुआ मजदूर की भांति कभी घर में मजदूरी करवाता था तो कभी बकरियां तो कभी ऊंट चरवाता था और उनसे जोर-जबरदस्ती से काम लेता था।

तीनों ने वीडियो में बताया है कि ऐसे हालात में वे तीनों वहां से भाग निकले और अब जंगल में भूखे-प्यासे फंसे हुए हैं। उन्होंने इस वीडियो के माध्यम से अपने परिवार वालों से गुहार लगाई है कि उनकी जान खतरे में है तथा किसी भी तरह उन्हें बचाकर वापस भारत लाया जाए।


एजेंट बोला- सऊदी अरब भेजना था, भेज दिया...

तीनों युवाओं के पेरेंट्स ने बताया, जब उन्होंने एजेंट को अपने बेटों के बारे में बताया तो उसने इतना कहकर पल्ला झाड़ लिया है कि उसने तीनों को सऊदी अरब भेजना था, भेज दिया और अब वह कुछ नहीं कर सकता। उन्होंने जिला पुलिस प्रमुख से गुहार लगाई है कि एजेंट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए उन्हें इंसाफ दिलाया जाए। इस मौके पर गांव के सरपंच कृष्ण चंद, पूर्व सरपंच सुरजीत कुमार, भजन सिंह, सरपंच प्रीतम सिंह मवा, सरपंच सुखविंदर सिंह गोबिंदपुर बेला, राम प्रकाश सहित अनेक गांववासी मौजूद थे।

आगे की स्लाइड्स भी देखें...



दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×