Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Captain Harmanpreet Was Not Aware About Her Fake Degree

मुझे गेम के आधार पर नौकरी मिली न कि क्वालिफिकेशन पर, रुतबा बरकरार रखा जाए, दोबारा स्टडी के लिए तैयार हूं: हरमनप्रीत कौर

हरमनप्रीत ने कहा, उसे नहीं पता था, डिग्री सही नहीं है, अगर पता होता तो एक नौकरी छोड़ दूसरी न ज्वाइन करती।

सुखबीर सिंह बाजवा | Last Modified - Jul 12, 2018, 03:06 AM IST

मुझे गेम के आधार पर नौकरी मिली न कि क्वालिफिकेशन पर, रुतबा बरकरार रखा जाए, दोबारा स्टडी के लिए तैयार हूं: हरमनप्रीत कौर

चंडीगढ़.भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर भुल्लर को डीएसपी बनाने के बाद अब काॅन्स्टेबल पद आॅफर करने के फैसले की विपक्ष ने आलोचना करते हुए और हरमनप्रीत का पक्ष लेते हुए इसे एक स्पोर्ट्सपर्सन की इन्सल्ट करार दिया है। उधर, हरमरप्रीत कौर ने भी कहा है कि उसे गेम के आधार पर नौकरी दी गई थी, न कि क्वालिफिकेशन के आधार पर। उसे एक मौका दिया जाए। वह दोबारा स्टडी करने को तैयार है, लेकिन उसका डीएसपी पद बरकरार रखा जाए।

फर्जी डिग्री के होने की नहीं थी जानकारी

हरमनप्रीत कौर ने कहा, अगर सरकार को उसकी डिग्री में कोई प्राॅब्लम लगती है तो उसे दोबारा स्टडी करने में कोई प्राॅब्लम नहीं, लेकिन उसे इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि उसकी डिग्री सही नहीं है। उसने उसी डिग्री के आधार पर आगे काॅलेज में एडमिशन ली और जाॅब की। अगर उसे पता होता कि डिग्री सही नहीं है तो एक जाॅब मिलने के बाद वह उस जाॅब को छोड़कर उसी डिग्री के आधार पर दूसरी जाॅब लेने की कोशिश ही न करती। हरमनप्रीत ने बताया कि उसकी खेल मंत्री से बात हुई है। उसने उनसे भी यही कहा है कि अगर उसकी गेम में कोई प्राॅब्लम है तो उस पर कार्रवाई की जाए, लेकिन उसका डीएसपी का रैंक बरकरार रखा जाए।

भट्ठल के लिए नियम बदल सकते हैं तो हरमन के लिए क्यों नहीं ः खैहरा
आप विधायक सुखपाल खैहरा ने कहा अगर हरमन की डिग्री पर सवाल उठ रहे हैं तो उसे प्रोविजनली डीएसपी पद पर लिया जा सकता है और स्टडी का मौका देकर स्टडी लीव दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार नियम बदलकर पूर्व सीएम भटठल की सरकारी कोठी का 84 लाख रेंट माफ कर सकती है और उनकी कोठी बचाने को उन्हें योजना बोर्ड की वाइस चेयरपर्सन बना कैबिनेट रैंक दे सकती है तो हरमनप्रीत का डीएसपी रैंक बरकरार रखने के लिए नियमों में बदलाव क्यों नहीं किए जा सकते।

सरकार ने महिला खिलाड़ी की इन्सल्ट की ः दलजीत चीमा
अकाली दल के वरिष्ठ उपप्रधान डाॅ. दलजीत सिंह चीमा का कहना है कि हरमनप्रीत कौर को डीएसपी पद उसके खेल को देखते हुए दिया गया था, न कि उसकी क्वालिफिकेशन देखकर। ऐसे में पंजाब सरकार की ओर से उससे डीएसपी पद छीनकर काॅन्स्टेबल पद आॅफर करना बिल्कुल गलत है। यह एक महिला खिलाड़ी की इन्सल्ट है। हरमन को दोबारा स्टडी के लिए टाइम दिया जाना चाहिए।

‘डीएसपी रैंक बरकरार रखने को नियम बदलने के लिए सरकार को लिखा है’
डीजीपी प्रशासन एमके तिवारी ने कहा कि हरमनप्रीत कौर का डीएसपी रैंक बरकरार रखन के लिए नियमों में बदलाव करने के लिए सरकार कोे लिखकर भेजा है। अब इस पर सरकार क्या फैसला लेती है, यह उस पर निर्भर करता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×