--Advertisement--

1.87 करोड़ के चेक बाउंस केस में आर्यन ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के चेयरमैन अंशु कटारिया को 1 साल कैद

- मौके पर मिली जमानत, 2015 में देना बैंक ने कंप्लेंट फाइल की थी

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 04:37 AM IST
अंशु कटारिया। -फाइल फोटो अंशु कटारिया। -फाइल फोटो

चंडीगढ़. चेक बाउंस के चार अलग-अलग मामलों में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने आर्यन ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के चेयरमैन डॉ. अंशु कटारिया को 1 साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने देना बैंक की शिकायत पर ये फैसला सुनाया है। उन्हें मौके पर ही जमानत मिल गई। कोर्ट ने 5 जून को डॉ. कटारिया को इन चारों मामलों में दोषी करार दे दिया था। चारों मामलों में सजा एक साथ ही चलेगी। उन्होंने बैंक को इंस्टॉलमेंट्स और इंट्रस्ट के तौर पर 1 करोड़ 87 लाख 18 हजार रुपए के चार चेक दिए थे, जोकि बाउंस हो गए। 2015 में देना बैंक ने कंप्लेंट फाइल की थी।

बीमारी की बात कहकर नरमी की मांग, नहीं मानी कोर्ट ने

कंप्लेंट के समय ग्रुप पर बैंक की 22 करोड़ 22 लाख 83 हजार 722 रुपए की देनदारी थी। अक्टूबर 2015 में ग्रुप ने बैंक को इंस्टॉलमेंट्स और इंट्रेस्ट के तौर पर 4 चेक दिए, लेकिन अकाउंटम में फंड ही नहीं था। डॉ. कटारिया ने सजा सुनाए जाने से पहले कहा कि उनकी उम्र 42 साल है और वे डायबेटिक पेशेंट हैं। उनके बुजुर्ग पेरेंट्स की जिम्मेदारी है। वे परिवार में अकेले कमाने वाले हैं। इसलिए सजा में नरमी बरती जाए। लेकिन कोर्ट ने उनकी दलीलों को नहीं माना।