--Advertisement--

डेटिंग एप की वजह से पहले की तरह रिश्तों में अब रोमांच नहीं रहा

स्मार्ट युग में स्मार्ट फोन पर इतनी सारी ऐप्स आ गई हैं कि अब लोगों के पास अपनी नॉलेज और एंटरटेनमेंट के लिए बहुत-सी...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:05 AM IST
स्मार्ट युग में स्मार्ट फोन पर इतनी सारी ऐप्स आ गई हैं कि अब लोगों के पास अपनी नॉलेज और एंटरटेनमेंट के लिए बहुत-सी ऑप्शंस हैं। इसी वजह से वह कहीं भी समझौता नहीं करना चाहते। ये कहना है दिल्ली की तृप्ति डिमरी का। चुलबुली होने के साथ ही तृप्ति बेहद समझदार भी हैं। रिश्तों पर गहराई से बात करती हैं। स्मार्ट फोन पर डेटिंग ऐप्स का हवाला देते हुए बोलीं- आजकल इतनी ऐप्स आ गई हैं कि रिश्तों का रोमांच खत्म हो गया है। एक्टिंग फिल्ड में आने को लेकर तृप्ति ने कहा- स्कूल टाइम से ही मैं अपने फ्रेंड्स से कहती थी कि मैं टीवी स्टार बनना चाहती हूं। पर मेरे पेरेंट्स मुझे एक्टिंग सिखाने के ज्यादा इच्छुक नहीं थे। हां, कहीं-न-कहीं मेरे पिता एक्टर बनना चाहते थे। इसलिए वह समय के साथ मान गए और मुझे मॉडलिंग की इजाजत दी। कुछ समय बाद मैं दिल्ली से मुंबई गई। वहां भी मॉडलिंग और फोटो शूट किए। इसके बाद मुझे एक कास्टिंग डायरेक्टर का कॉल आया। ऑडिशन दिए और मेरा एक फिल्म के लिए सिलेक्ट हो गई।

जानिए तृप्ति को..

रोल मॉडल- मुझे याद है जब मैं पांचवीं में थी तो अपने पेरेंट्स को कहा करती थी कि मुझे शाहरुख खान से शादी करनी है। इसलिए आज भी मेरे रोल मॉडल वही हैं।

हॉबीज - मुझे संगीत का शौक है। शास्त्रीय संगीत भी सीखा है। दिन में 14-14 घंटे का रियाज किया है। हो सकता है अपनी अगली फिल्म में मैं खुद ही प्लेबैक सिंगिंग करूं।

कंपीटिशन खुद से- मेरा कंपीटिशन सिर्फ मुझसे ही है। मैं अच्छे से जानती हूं कि मैं जितना भी अच्छे से परफॉर्म कर लूं, लोग मुझे दूसरी एक्टर्स से कंपेयर करेंगे ही। अगर मैं अपनी तुलना दूसरी एक्टर्स से करती हूं तो मैं खुद की डिसरिस्पेक्ट करूंगी। इसलिए खुद की तुलना किसी दूसरी एक्टर्स से नहीं करती। वो अपना काम कर रही हैं और मैं अपना काम कर रही हूं।