--Advertisement--

फैक्टरी में लोहे की चादरें गिरने से बेटे की मौत, खबर सुनते ही पिता ने भी तोड़ा दम

बेटे की मौत की खबर सुनकर पिता ने एकदम सीने पर हाथ रखा और जोर से चिल्लाते हुए नीचे गिर गए।

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:59 AM IST
क्रेन की तार टूटने से हफ्ता भर क्रेन की तार टूटने से हफ्ता भर

मोहाली. इंडस्ट्रियल एरिया फेज-9 में एक लोहे की चादरें बनाने वाली फैक्टरी में काम करने वाले 35 साल के कांशीपाल पर लोहे की चादरों का बंडल क्रेन की तार के टूटने के कारण गिर गया था। फैक्टरी में घायल होने के बाद सोमवार को कांशीपाल की अस्पताल में मौत हो गई। बेटे की मौत की खबर जैसे ही 60 साल के पिता दुभरपाल को मिली तो उनके दिल में हलका सा दर्द हुआ और फिर उन्होंने दम तोड़ दिया।

क्रेन की रस्सी टूटने से हुआ हादसा

- पुलिस के मुताबिक, कांशीपाल फेज-9 इंडस्ट्रियल एरिया-1 में लोहे की फैक्ट्री में काम करता था। इस फैक्टरी में लोहे की बड़ी चादरें बनती हैं। करीब एक सप्ताह पहले चादरों के बंडल को फैक्टरी में क्रेन से एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट किए जा रहे थे।

- अचानक क्रेन की बंडल को बांधी लोहे की रस्सी बीच में से टूट गई और लोहे की चादरें खुलकर करीब 20 फीट की हाइट से कांशीपाल पर आकर गिर गई। साथ काम करने वाले वर्करों ने चादरों को क्रेन से हटाकर कांशीपाल को बाहर निकाला था। उसको अस्पताल ले गए और वहां से जीएमसीएच-32 रेफर कर दिया गया था।

पिता ने पहले कोई रिएक्शन नहीं दिया और फिर हुई सीने में दर्द

- मृतक कांशीपाल के रिश्तेदार व दोस्त राम आधार ने बताया कि कांशीपाल की मौत की खबर जब यूपी के कुशीनगर गांव में रहते उसके पिता दुभरपाल को मिली तो उनका कोई रिएक्शन नहीं किया। उसके पिता ने एकदम सीने पर हाथ रखा और जोर से चिल्लाते हुए नीचे गिर गए।

- घरवालों ने उनको उठाने का प्रयास किया लेकिन नहीं उठे। तुरंत डॉक्टर के पास लेकर गए तो डॉक्टर ने उनको मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों के अनुसार पिता दुभरपाल को हार्टअटैक आया। सदमे के कारण अटैक आने से उनकी मौत हो गई।

कांशीपाल 12 साल के बेटे के साथ रहते थे बलौंगी|

- राम आधार ने बताया कि कांशीपाल की पत्नी की किसी बीमारी के चलते 7 साल पहले मौत हो गई थी। मृतक कांशीपाल का एक 12 साल का बेटा है जिसे वह पढ़ा रहा था ताकि वह किसी अच्छी जगह नौकरी पर लग जाए और उसे पिता की तरह मजदूरी ना करनी पड़े।

- पुलिस ने पोस्टमाॅर्टम करके शव रिश्तेदारों को सौंप दिया जोकि शव को यूपी में उनके घर कुशीनगर ले गए। पुलिस ने इस मामले में सीआरपीसी की धारा 174 लगाई है।

X
क्रेन की तार टूटने से हफ्ता भर क्रेन की तार टूटने से हफ्ता भर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..