--Advertisement--

गहरी नींद में था 5 साल का बच्चा, अचानक बेड पर आया करीब 10 फीट का कोबरा, सुबह परिवार वाले उठे तो देखा बेटे के मुंह से निकल रहा था झाग...

सुबह मुंह से झाग निकलता देखा तो ले गए थे अस्पताल, इलाज के दौरान मौत।

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 11:46 AM IST

पंचकूला (चंडीगढ़)। ओल्ड पंचकूला में सांप के काटने से 5वीं क्लास के एक बच्चे की मौत हो गई। आर्य ओल्ड पंचकूला स्थित अपने घर में रात के समय सो रहा था। रात को उसके सर पर सांप काट गया। परिवार को पता ही नहीं चला। सुबह परिवार वाले उठे तो देखा कि आर्य के मुंह से झाग निकल रही थी। परिवार के लोग घबरा गए।

सुबह मासूम के मुंह से झाग निकलता देखा तो ले गए डॉक्टर के पास

आर्य को सेक्टर 6 स्थित जनरल अस्पताल में ले जाया गया। यहां डॉक्टर्स ने उसे बताया कि सांप ने काटा है। बच्चे की हालात गंभीर है। उसे पीजीआई रेफर कर दिया गया। आर्य का मंगलवार को दिनभर पीजीआई में इलाज चला, लेकिन शाम को उसने इलाज के दौरान मृत घोषित कर दिया गया।

पंचकूला नगर निगम की टीम ने मंगवार सेक्टर-19 से कोबरा सांप पकड़ा।

सोमवार को सूरजपुर में फैक्टरी से निगम की टीम ने अजगर पकड़ा था। निगम को सेक्टर-19 के एक घर में सांप होने की शिकायत मिली थी। निगम की टीम ने मौके पर पहुंचकर जहरीला कोबरा पकड़ा। इसे पकड़ने के बाद प्लास्टिक के डिब्बे में बंद कर लिया गया जिसे बाद में जंगलों में छोड़ दिया गया।

निगम कमिश्नर राजेश जोगपाल का कहना है कि बीते एक महीने में एमसी की टीम-9 सांप पकड़ चुकी हैं। इनमें से तीन सांप जहरीले थे। इनमें कोबरा के अलावा करैत स्नेक और रसल वाइपर शामिल थे।

घर में सांप निकलने पर बेसिक काम क्या करें....

- अगर आपको डर है कि सांप विषैला हैं तो वाइल्ड लाइफ डिपार्टमेंट, स्नेक कैचर्स या जंगली जानवर पकड़ने वालों को बुलाएं। सांस के छोटे बच्चे भी काटते हैं, जो कि खतरनाक हो सकता है। उन्हें पकड़ने के लिए किसी अनुभवी व्यक्ति की सहायता लेना ही सबसे बेहतर हैं।

- सांप को एक कमरे में बंद करके रखने की कोशिश करें। यदि आपने सांप को कपड़े धोने के कमरे में देखा है तो उदाहरण के लिए, दरवाजे को बंद कर दीजिये और एक तौलिये की सहायता से दरवाजे को नीचे की तरफ से भी पूरी तरह से बंद कर दें, ताकि सांप को बाहर जाने से रोका जा सके।

- बच्चों और पालतू जानवरों को उस जगह से दूर रखें जब तक स्नेक कैचर सांप को पकड़ न लें।

- यदि आप सांप के जहरीले होने को लेकर निश्चित नहीं है, तो खुद उससे निपटने की कोशिश न करें। जानवर नियंत्रण टीम को बुलाएं ताकि वे इसे पकड़ कर वहां से ले जा सके।

- झाड़ू का इस्तेमाल करें ताकि आप सांप को घेर कर उसे प्लास्टिक शीट पर डाल सकें, या किसी छोटे से लकड़ी के समतल टुकड़े या समतल सतह पर रखें।

- सांप के ऊपर कूड़ेदान या कोई डिब्बा रख दीजिए।

- सांप को जंगल या अपने घर से बहुत दूर ले जाएं।

- सांप से बचने के लिए घर के आसपास घास नियमित रूप से काटते रहें। लंबी घास और जंगली झाड़ियां सांपों के छिपने के लिए उत्तम जगह है। वे चारों तरफ आसानी से घूम सकते है, और उन्हें नुकसान पहुंचाने वाले पक्षियों से भी बच सकते हैं।

- घर में कीड़े-मकौड़, काकरोच, मेंढक न होने दे। सांप अकसर इन्हें खाने के लालच में घरों के अंदर घूसते हैं।

- सांप को घर के अंदर घुसने से रोकने के लिए दरवाजों व खिड़कियों को अच्छी तरह सील करना चाहिए। चिमनी व रोशनदान को भी बंद रखे।

- अमोनिया में भिगोए कपड़े का टुकड़ा। यह नुस्खा विभिन्न जानवरों को घर के आस पास आने से रोकता है। इस कपड़े के टुकड़े को ऐसे स्थान पर रखें जहां पहले सांप को देखा हो।

सितंबर में ठंडक बढ़ने लगती है सांप गर्म जगह ढूंढते हैं...

स्नेक कैचर सलीम खान का कहना है कि सितंबर में ठंडक बढ़ने लगती है। ऐसे में सांप गर्म जगह ढूंढते हैं। उनका कहना है कि वह मंगलवार को पंचकूला के सेक्टर 21 और बद्दी गए थे तो रात को गर्मी लेने के लिए सड़क पर आए कई सांप गाड़ियों के टायर के नीचे आकर मरे देखे। अक्टूबर में सांप गर्मी के लिए दोपहर को धूप लेने के लिए पार्क या मलबे के ढेर के आसपास मिलते हैं। सांपों से डरना नहीं चाहिए। इन पर नजर रखनी चाहिए और स्नेक कैचर को बुलाना चाहिए। अगर कमरे के दरवाजे पर खड़े हाे जाए तो सांप कमरे से बाहर नहीं निकलता है। अगर कमरा छोड़कर भाग जाए तो सांप कहीं भी घुस सकता है जिससे उसे ढूंढना मुश्किल हो जाता है। बीन की मदद से सांप को नहीं बुलाया जा सकता हैं क्योंकि सांप के कान नहीं होते।