सरकारी मुलाजिमों ने मनाई फीकी लाेहड़ी

Chandigarh News - पंजाब सरकार के विभिन्न विभागाें में तैनात मुलाजिम मांगाें काे मनवाने के लिए तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं ताकि...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:17 AM IST
Chandigarh News - government schools boycott fakki lahari
पंजाब सरकार के विभिन्न विभागाें में तैनात मुलाजिम मांगाें काे मनवाने के लिए तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं ताकि सरकार पर दबाव बनाया जा सकें। इसी कड़़ी के तहत जहां पूरे पंजाब भर में लाेहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। वहीं पंजाब के सरकारी मुलाजिमों ने फीकी लाेहड़ी मनाकर अपना राेष जताया।

साझा मुलाज़िम मंच पंजाब और यू.टी. की लीडरशिप की तरफ से सेक्टर -17 के पुल के नीचे एक अनोखे ढंग के साथ ठंडी और फीकी लोहड़ी मनाई। नेताओं की तरफ से अपने पारिवारिक मंच के साथ पुल नीचे इकट्ठा हो कर लकड़ें इकट्ठे कर बिना आग लगाए अाैर आसपास बैठ कर सरकार विरुद्ध अलग ढंग के साथ आप बनाए लोहड़ी के गीत गाते हुए सरकार और तीखे व्यंग्य कसे।

मुलाजिम का कहना था कि त्योहार के दिनों में पंजाबी संस्कृति अनुसार परिवार और रिश्तेदारियों में कई तरह के उपहारों का देने लेने लंबे समय से चला आ रहा है। इस पर सामाजिक रुतबे के अनुसार काफी खर्च आ जाता है। लेकिन सरकार की तरफ से मुलाजिम के लंबे समय से वित्तीय लाभ और भत्ते रोकने के कारण त्योहार फीके रहते हैं, इसी वजह सेे मुलाजिमों ने रविवार को ठंडी, फीकी और फोकी लोहड़ी मनाकर सरकार के खिलाफ रोष प्रकट किया है।

कर्मचारियों ने खुद बनाए गए लोहड़ी के गीत गाते हुए पंजाब सरकार पर तीखे व्यंग्य कसे

तुरंत पे कमीशन को स्टाफ मुहैया करवाए जाए

कर्मचारी नेता सुखचैन सिंह खैहरा, गुरमेल सिंधु और सुखविंदर सिंह ने कहा कि पता चला है कि पंजाब सरकार अपने मुलाजिमों को फरवरी महीने में 6वें पे कमीशन देने वाली है। उन्होंने कहा कि पे कमीशन में इस समय सबॉर्डिनेट स्टाफ के बहुत कम मुलाजिम हैं। वह पे कमीशन की तरफ से विभागों के पास से मांगी गई सूचना को जल्दी कंपाइल नहीं कर सकते और इस सूचना के बाद पे कमीशन की बाकी रहती कार्यवाहियों करने के लिए अभी तक सरकार की तरफ से कोई भी ब्रांच /शाखा का गठन नहीं किया गया है। अगर सरकार पे कमीशन जल्दी देना चाहती है और मुलाजिमों की वोटों पार्लियामेंट लेना चाहती है तो तुरंत पे कमीशन को स्टाफ मुहैया करवाए नहीं तो यही समझा जायेगा कि सरकार मुलाजिम काे टाल रही है।

ये हैं मुख्य मांगंे

लंबे समय से लटकती आ रहीं मांगों वें तनख्वाह कमीशन,,पुरानी पेंशन स्कीम, महंगाई भत्ते की किस्तें, बराबर काम बराबर तनख्वाह, 200 रुपये जजिया टैक्स वापस लेना, प्रोबेशन पीरियड पुरानी हिदायता अनुसार किया जाए, कच्चे मुलाजिम पक्के करना, खाली असामियां और पक्की भरती करना सहित अन्य मांगों को चुनाव से पहले किया जाए।

इस एक्शन में सेवानिवृत्त मुलाजिमों ने भी शिरकत की और कहा कि वह जल्दी की मुलाजिमों के राजनीतिक विंग की स्थापना कर राजनीतिक पार्टियां की तरफ से मुलाजिमों,मजदूर और किसाना की की जा रही लूटमार को बंद करने के लिए प्रयास करेंगे।

X
Chandigarh News - government schools boycott fakki lahari
COMMENT