--Advertisement--

विधानसभा में जूते निकालने वाले मामले में करण दलाल ने दी पुलिस में शिकायत, अभय चौटाला को बताया सरकार का बाउंसर

करण दलाल ने प्रेसवार्ता कर कहा यदि गुंडे हमें डराएंगे तो हम भी ऐसा ही बर्ताव करेंगे।

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:01 PM IST
Haryana Vidhansabha INLD Congress clash MLA Karna Dalal complaint against Chautala

चंडीगढ। हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र में इनेलो नेता अभय चौटाला और करण सिंह दलाल द्वारा एक दूसरे को मारने के लिए जूता निकाल लेने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इसमें पलवल विधायक करण सिंह दलाल ने पंचकूला में पुलिस को शिकायत दी है।

घटना के एक दिन बाद बुधवार को प्रेसवार्ता करते हुए करण सिंह दलाल ने कहा कि उन्होंने पहल नहीं की बल्कि अभय चौटाला ने पहले जूता निकाला था। इसके बाद ही उन्होंने ऐसा किया। करण सिंह दलाल ने अभय चौटाला को गुंडा बताया है। उन्होंने कहा कि यदि गुंडे हमें डराएंगे तो हम भी ऐसा ही बर्ताव करेंगे। दलाल ने कहा कि अभय चौटाला विधानसभा में बीजेपी के बाउंसर की तरह का व्यवहार कर रहे थे।

दलाल ने कहा कि मैं गरीबों की आवाज उठा रहा था। हरियाणा के अंदर फूड एंड सप्लाई विभाग ने 25 लाख लोगों को बाहर निकाल दिया। सरकार ने मेरी बात को ध्यान न देकर फिजूल बात पर शोर मचाने लगे। मैंने जब कलंकित शब्द कहा तो अभय चौटाला सदन के अंदर नहीं थे। लेकिन बीजेपी उन्हें बाहर से सीखाकर लाई। उन्होंने अंदर आते ही बहस शुरू कर दी।

हुड्डा ने अभय के बर्ताव को बताया विधानसभा को कलंकित करने वाला
पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अभय चौटाला के इस बर्ताव की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि अभय चौटाला का इस तरह विधानसभा में जूता उठाना हरियाणा विधानसभा को कलंकित करने वाला है। हुड्डा ने कहा कि करण दलाल से स्पष्टीकरण लिए बिना उन्हें एक साल के लिए निलंबित कर दिया। इनेलो और भाजपा दोनों मिले हुए हैं। जनता ने इनेलो को मुख्य विपक्षी दल के रुप में भेजा हुआ है लेकिन वे मुख्य सहयोगी दल बने हुए हैं। इस मामले पर यदि उन्हें कानूनी रास्ता अपनाना पड़ा तो हम पीछे नहीं हटेगा।

ये हुआ था विधानसभा में
12:27 से 12:40 बजे तक :
कांग्रेस विधायक करण दलाल ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाया था। दलाल ने आरोप लगाया कि 25 लाख लोगों को राशन नहीं मिल रहा। केंद्र ने पत्र जारी किया है कि आधार की वजह से किसी का राशन न रोकें। कुछ भी करें, पर प्रदेश कलंकित है कि राशन खा गए। प्रदेश को कलंकित कहने पर कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़, वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु समेत सत्ता पक्ष ने दलाल पर कार्यवाही की मांग की। विधानसभा उपाध्यक्ष संतोष यादव ने दलाल से स्पष्टीकरण मांगा। पर धनखड़ ने कहा कि यह ढाई करोड़ जनता का अपमान है। माफी से काम नहीं चलेगा। हंगामा बढ़ते देख कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई।

करण के बयान पर कैप्टन अभिमन्यु ने अभय की राय मांगी तो मामला मारपीट तक पहुंचा
12:50 से 1:18 बजे तक :
कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि दलाल शब्द वापस लें। पर कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला भी अपनी राय रखें। चौटाला बोले कि इस भाषा से पूरे प्रदेश को आघात पहुंचा है। ये माफी के लायक नहीं है। प्रस्ताव लाया जाए, हम समर्थन करेंगे। इस पर अभय और दलाल में बहस शुरू हो गई। दोनों जूता निकालकर कुर्सी से उठे और एक-दूसरे की ओर बढ़े। तभी कांग्रेस व इनेलो विधायक और मार्शल बीच-बचाव करने आए। दोनों ने एक-दूसरे को खूब अपशब्द बोले। बाहर निकलकर देखने की धमकी दी। इस पर कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी।

हुड्‌डा ने माफी मांगी, पर करण सस्पेंड कर दिए
1:28 से 1:45 बजे तक :
अभिमन्यु ने करण को 1 वर्ष के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव रखा। कांग्रेस के रघुबीर कादयान बोले कि यह आग कैप्टन ने लगाई है। भूपेंद्र हुड्‌डा ने कहा कि बहुमत है तो किसी को भी निकाल दोगे। प्रदेश को कलंकित माना गया तो मैं माफी मांगता हूं। अध्यक्ष ने दलाल को 1 वर्ष के लिए निलंबित किया।

X
Haryana Vidhansabha INLD Congress clash MLA Karna Dalal complaint against Chautala
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..