--Advertisement--

15 दिन में दौड़ेगी तेजस; रेल कोच फैक्ट्री ने तैयार कर नाॅर्दर्न रेलवे नई दिल्ली को सौंपे 12 कोच

- 10 दिन में होगा ट्रायल उसके बाद ट्रैक पर आ जाएगी ट्रेन

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 07:00 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

चंडीगढ़. भारतीय रेलवे की ड्रीम ट्रेन तेजस चंडीगढ़ से दिल्ली के बीच ट्रैक पर 15 दिनों के अंदर दौड़ने लगेगी। रेल कोच फैक्ट्री ने 12 कोच तैयार कर 24 मई को नाॅर्दर्न रेलवे नई दिल्ली को सौंप दिए हैं। नॉर्दर्न रेलवे नई दिल्ली के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर नितिन चौधरी ने बताया कि रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला ने तेजस में कुछ अपग्रेडेशन किया है। इसमें इन्फोटेनमेंट सिस्टम आदि नए लगाए गए हैं। लिहाजा आरसीएफ चाहता है कि इसे चलाने से पहले इसको अच्छी तरह से परख लिया जाए। इसलिए 10 दिन में इसका ट्रायल पूरा किया जाएगा। चौधरी ने बताया कि यह 12 कोच चंडीगढ़-दिल्ली के बीच लिए ही बने हैं।

- रेलवे बोर्ड की ओर से इस हफ्ते तेजस को चंडीगढ़-दिल्ली के बीच चलाने को मंजूरी मिल जाएगी। चूंकि इसका शेड्यूल पहले ही घोषित किया जा चुका है। चौधरी ने बताया कि वैसे तो तेजस 160 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पर चलाई जा सकती है।

- चूंकि चंडीगढ़-अंबाला ट्रैक को अभी सेमी हाई स्पीड ट्रैक बनाने का काम होना है। लिहाजा इसे 120 से 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चलाया जाएगा। रेलवे ने तेजस का चंडीगढ़-नई दिल्ली के बीच चलाने का टाइम टेबल 2016 में जारी कर दिया था।

यह होगा टाइम टेबल

- बुधवार को छोड़कर हफ्ते में 6 दिन चंडीगढ़ से नई दिल्ली के बीच तेजस एक्सप्रेस चलेगी।
- नई दिल्ली से: गाड़ी संख्या 22425
- नई दिल्ली-चंडीगढ़ तेजस एक्सप्रेस नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हर सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार रविवार को सुबह 9.40 पर चलेगी और दोपहर 12.40 पर चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंचेगी।
-चंडीगढ़ से: ट्रेन नंबर 22426
-चंडीगढ़-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस दोपहर 2.35 पर चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से चलकर शाम 5.30 पर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचेगी।

शताब्दी से 20 फीसदी ज्यादा होगा बेस फेयर...

- तेजस एक्सप्रेस का फेयर शताब्दी एक्सप्रेस के फेयर से 20 फीसदी ज्यादा होगा। तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को यात्रा के दौरान खाना ऑर्डर करने का ऑप्शन होगा। अगर कोई पैसेंजर टिकट खरीदते वक्त भोजन का विकल्प चुनता है तो फूड खर्च भी एड कर टिकट बनाया जाएगा।

- अगर कोई पैसेंजर इस ऑप्शन को नहीं चुनता है तो उससे फूड खर्च नहीं लिया जाएगा। उदाहरण के तौर पर चंडीगढ़ से दिल्ली के बीच शताब्दी का चेयरकार का बेस फेयर 404 रुपए है तो तेजस एक्सप्रेस का बेस फेयर 500 के आसपास हो सकता है। अगर कोई खाना नहीं लेता है तो उसे बेस फेयर के अलावा सिर्फ आरक्षण, सुपरफास्ट चार्जेज और जीएसटी देना होगा।

सुरक्षा का भी पुख्ता इंतजाम...
- सुरक्षा के लिहाज से पूरी ट्रेन में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। वहीं आग से बचाव के लिए इस लग्जरी ट्रेन के कोच एवं पावर कार में फायर डिटेक्टर सिस्टम भी लगाए गए हैं। फर्श पर मार्बल फिनिश एंटर ग्राफिटी कोचिंग होगी और रोशनी के लिए एलईडी लाइट लगाई गई है।

- वहीं डस्टबिन भी नए डिजाइन का लगाया है। कोच के डोर को गार्ड पैनल से कंट्रोल किया जा सकता है। सीटों के टिकने वाले भाग और आर्म रेस्ट को अधिक ऊंचा एवं नई डिजाइन से बनाया गया है। एक्जीक्यूटिव चेयरकार श्रेणी में गैस स्प्रिंग वाला लेग सपोर्ट लगाया गया है। हर सीट पर यूएसबी चार्जिंग सुविधा होगी। टॉयलेट सिस्टम में काफी सुधार किए गए हैं।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..