मेंस्ट्रूअल इनफेक्शन जानलेवा न हो, यही है इनका मकसद

Chandigarh News - कैंसर से मरने वाली औरतों में सबसे ज्यादा संख्या सर्विक्स कैंसर से मरने वाली महिलाओं की रहती है। गर्भाशय के इस...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:25 AM IST
Chandigarh News - infectual infection is not a murder this is the motive
कैंसर से मरने वाली औरतों में सबसे ज्यादा संख्या सर्विक्स कैंसर से मरने वाली महिलाओं की रहती है। गर्भाशय के इस कैंसर का एक बहुत बड़ा कारण है मेंस्ट्रूअल इनफेक्शन। इस इन्फेक्शन और इसके जानलेवा असर से आने वाली पीढ़ी को मुक्त कराने के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी का डिपार्टमेंट ऑफ सोशल वर्क चला रहा है पिछले 1 साल से एक खास अभियान। वह न सिर्फ मेंस्ट्रूअल इन्फेक्शन से बचने की जानकारी देते हैं, बल्कि इसके लिए मौजूद विकल्प और पर्यावरण के अनुसार डिस्पोज ऑफ करने की ट्रेनिंग भी देते हैं।

सिर्फ 5 स्टूडेंट्स के साथ शुरू हुए इस अभियान के दौरान अब तक 5600 लोगों को ट्रेंड किया जा चुका है। अभियान को लीड कर रहे टीचर डॉ. गौरव गाैड़ ने बताया कि जब उन्होंने इसको शुरू करने की बात की थी तो लोगों का रुख नेगेटिव था। उनका मानना था कि इस तरह की जानकारियों की जरूरत पिछड़े और ग्रामीण इलाकों में ज्यादा है। लेकिन फिर भी कुछ टीचर्स वर्कशाॅप कराने के लिए मान गए और सिर्फ आधे घंटे के लिए रखी गई उनकी वर्कशॉप एक हॉस्टल में 2 घंटे तक चली।

युवतियों के सवाल खत्म ही नहीं हो रहे थे। इसके बाद टीचर इंचार्ज ने भी माना कि बहुत सी चीजें हैं, जिस पर बात करने की जरूरत है। इस अभियान का पहला मकसद है ब्रेक द साइलेंस यानी इस बारे में सबसे पहले बात करनी जरूरी है। इस बातचीत के बाद जरूरी है मेंस्ट्रूअल साफ सफाई और संभाल के बारे में विकल्पों की जानकारी। अभी तक ज्यादातर लड़कियां काॅटन व कपड़े के अलावा सेनेटरी नेपकिन को ही एकमात्र विकल्प समझती हैं, जबकि टेंपाेंस अाैर शी कप जैसे बहुत से विकल्प मौजूद हैं। इनमें से कई विकल्प पर्यावरण के लिए फायदेमंद हैं। इसके बाद उनकी कोशिश रहती है कि महावारी से जुड़े भ्रांतियों को दूर किया जाए ।

पीयू के डिपार्टमेंट ऑफ सोशल वर्क के स्टूडेंट्स व टीचर्स की कोशिश

X
Chandigarh News - infectual infection is not a murder this is the motive
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना