चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

पहली बार चंडीगढ़ में इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, 23 से 26 अगस्त तक; टैलेंट को नई पहचान मिलेगी

- पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और चंडीगढ़ में बनी फिल्मों पर रहेगा फोकस

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 06:10 AM IST
इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल को ल इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल को ल

चंडीगढ़. 23 अगस्त 2018 से 26 अगस्त चंडीगढ़ में इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल होगा। यह फेस्टिवल शहर में पहली बार होने जा रहा है। ट्रस्ट के मेंबर्स ने सोमवार को यह जानकारी दी। इसमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और चंडीगढ़ में बनी फिल्मों पर फोकस होगा। इससे एक तरफ यहां के टेलेंट को नई पहचान मिलेगी, वहीं सिनेमा प्रेमियों को भी एक ही जगह अच्छी फिल्में देखने का मौका मिल सकेगा।

सीएचआईएफएफ 2018 के आयोजन के लिए एक विशेष कमेटी बनाई गई है। इसमें बॉलीवुड के डायरेक्टर अनुराग कश्यप, अनिल मेहता, अनूप सिंह, बीएन गोस्वामी, नसीरूद्दीन शाह, नीलम मान सिंह चौधरी और रितु सरीन शामिल हैं। चार बार नेशनल अवाॅर्ड विजेता फिल्म निर्माता उमेश कुलकर्णी इस समारोह के डायरेक्टर होंगे।

- सीएचआईएफएफ के रीजनल एडवाइजर और फिल्ममेकर गुणबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि चंडीगढ़ और ट्राइसिटी के दर्शकों के लिए और इस क्षेत्र के लिए खास तौर पर फेस्टिवल किया जा रहा है।

- इससे फिल्मों के प्रति उनकी समझ और बेहतर बनाने की कोशिश रहेगी। सिद्धू ने कहा कि समारोह के दौरान अच्छी और अर्थपूर्ण फिल्में दिखाई जाएंगी। इसके साथ-साथ शहर की सांस्कृतिक पहचान को बनाने की कोशिश होगी।

ये दिखाया जाएगा

- इंडियन फिल्में : देश भर से 9 फिल्मों को फेस्ट की टीम चुनेगी।

- शॉर्ट फिल्में (सार्क देश) : इसके लिए सार्क देशों की कुछ बेहतरीन फिल्मों का चयन किया जाएगा। भारत, पाकिस्तान, बंगलादेश, श्रीलंका, भूटान, नेपाल और मालदीव में पिछले दो साल में बनी शॉर्ट फिल्में इसमें शामिल की जाएंगी।
-‘पंच’ - तीन मिनट की फिल्म का कंपीटिशन : फेस्ट में तीन मिनट वाली फिल्मों का एक कंपीटिशन भी होगा। इसमें हरियाणा और हिमाचल प्रदेश की युवा प्रतिभाओं द्वारा बनाई गई फिल्में शामिल की जाएंगी।

- यह फिल्में किसी भी भाषा तथा फार्म में हो सकती हैं। जैसे कि कहानी, म्यूजिक वीडियो, डाक्यूमेंट्री और अन्य किसी भी प्रकार की प्रयोगात्मक फिल्में। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य इस पूरे क्षेत्र में फिल्म निर्माण में नई सोच को बढ़ावा देना और उभरते हुए फिल्म निर्माताओं को एक मंच प्रदान करना है।


वर्ल्ड सिनेमा : विश्व सिनेमा सेक्शन में विश्व की जानी-मानी फिल्में दिखाई जाएंगी, जो अपने स्टाइल और फार्म में अलग-अलग होंगी। इसमें मौजूदा विश्व सिनेमा को खास तौर पर प्राथमिकता दी जायेगी।
भारतीय पैनोरमा : इस वर्ग में पिछले दो साल में भारत में बनी बेेहतरीन फिल्में दिखाई जाएंगी।
स्टूडेंट फिल्में : इस सेक्शन में भी लघु फिल्में दिखाई जाएंगी। यह वे फिल्में होंगी, जिन्हें देश भर के मीडिया संस्थानों के स्टूडेंट्स ने बनाया होगा।
इंटरनेशनल और डॉक्यूमेंट्री फिल्में : इस वर्ग में भारतीय और इंटरनेशनल फिल्में दिखाई जाएंगी।
बच्चों की फिल्में : किसी भी समारोह के भविष्य के दर्शक बच्चे और युवा होते हैं। बच्चों के लिए समर्पित एक सेक्शन रहेगा।

पंजाब, हरियाणा और हिमाचल की फिल्में: इस प्रतियोगिता में पिछले तीन वर्ष के दौरान बनी पंजाबी, हरियाणवी और हिमाचली फीचर फिलों को शामिल किया जायेगा। इस वर्ग में अलग अलग समय पर इन तीनों राज्यों की फिल्में भी दिखाई जायेंगी।

X
इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल को लइंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल को ल
Click to listen..